उत्तरकाशी : प्रभारी मंत्री ने विकास कार्यों की समीक्षा की,विधायक केदार की मांग पर चिन्यालीसौड़ में जल्द पानी की समस्या के निस्तारण के दिये निर्देश

  • संतोष साह

कैबिनेट व जिले के प्रभारी मंत्री गणेश जोशी ने उत्तरकाशी में जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए जनपद में कराए जा रहे विभिन्न विकासात्मक कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने सुदूरवर्ती गांव सरबडियार की काफी लंबे समय से सड़क मार्ग बनाने की मांग पर कहा कि निर्माण के लिए धन स्वीकृत है अधिशासी अभियंता लोनिवि शीघ्र टेंडर आमंत्रित करे ताकि गांव को सड़क मार्ग से जोड़ा जा सकें। उन्होंने वजनपद के सभी विद्यालयों में बच्चों को बैठने के लिए फनीचर आदि की परस्पर व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि कोई भी बच्चा जमीन में न बैठे।

प्रभारी मंत्री ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि जिला अस्पताल समेत सीएचसी व पीएचसी में कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए व्यापक स्तर पर तैयारी सुनिश्चित करने को कहा विशेषकर बच्चों के लिए आवश्यक दवाई,उपकरण इत्यादि समय रहते क्रय करने के निर्देश दिए। उन्होंने एम्बुलेंस व 108 की स्थिति के साथ ही नर्सिंग व डॉक्टर्स की वर्तमान स्थिति की भी जानकारी ली। उरेड़ा विभाग की समीक्षा में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की भी उन्होंने जानकारी ली।

कैबिनेट मंत्री ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंर्तगत ग्रामीण क्षेत्रों में छोटा व्यवसाय शुरू करने के लिए नैनो मुख्यमंत्री योजना की प्रगति की भी समीक्षा की। जिसमें कोई भी छोटा कार्य शुरु करने वाले ग्रामीण को 10 हजार रुपये ऋण देने का प्रावधान है। उन्होंने ग्रामीण स्तर पर छोटे व्यवसाय को बढ़ावा देने के निर्देश उद्योग विभाग को दिए। प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना में गत वर्ष में 116 लोगों को लाभान्वित किया गया जबकि चालू वित्तीय वर्ष में 13 लोगों को ऋण वितरण किया जा चुका है जबकि 31 लाभार्थियों के आवेदन ऋण आवंटित हेतु बैंक को भेजे गए है। जल जीवन मिशन की समीक्षा करते हुए प्रभारी मंत्री ने कार्यों में तेजी लाने के निर्देश कार्यदायी संस्थाओं को दिए।

प्रभारी मंत्री ने यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत की मांग पर चिन्यालीसौड़  नागणी,धनपुर पीपल मंडी में पानी की समस्या का जल्द निस्तारण करने के निर्देश जल संस्थान को दिए। श्री जोशी ने शिक्षा,कृषि,उद्यान,पशुपालन, मत्स्य,लोक निर्माण,वन आदि विभागों की भी समीक्षा की।उन्होंने जनप्रतिनिधियों की शिकायत पर विकास खंड स्तरीय अधिकारियों,एई,जेई समेत सभी कार्मिकों को अपने-अपने कार्य क्षेत्र में अनिवार्य रूप से रहने के निर्देश दिए।
समीक्षा बैठक में डीएम मयूर दीक्षित ने जिला योजना, राज्य सेक्टर, केंद्र पोषित योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।डीएम ने कहा कि जिला योजना में शासन से 38 करोड़ 28 लाख आवंटित हुए है जो विभागों को आवंटित कर दिए गए। जिला योजना में शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, उद्यान, सिंचाई,लघु सिंचाई,पर्यटन व स्वरोजगार के लिए प्राथमिकता दी गई है। इसी तरह राज्य सेक्टर में 50 करोड़ व केंद्र पोषित में 75 करोड़ आवंटित हुए है। जिसके सापेक्ष 57 करोड़ खर्च कर लिए गए है।  बैठक में यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत,ब्लाक प्रमुख भटवाड़ी विनीता रावत,डुंडा शैलेंद्र कोहली, मोरी बचन सिंह पंवार, मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार,डीएफओ पुनीत तोमर,पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा,सीएमओ डॉ. के.एस.चौहान, वरिष्ठ कोषाधिकारी बालकराम,सीवीओ डॉ प्रलंयकर नाथ,परियोजना निदेशक संजय सिंह, जिला युवा कल्याण अधिकारी विजय प्रताप भंडारी सहित सहित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

You may have missed