उत्तरकाशी : डीएम मयूर दीक्षित के निर्देश पर जिला मुख्यालय समेत तहसील अंतर्गत विभागों में औचक निरीक्षण, अधिकारियों समेत कई कार्मिक मिले गायब,वेतन रोकने के निर्देश

  • संतोष साह

एक दिन पूर्व डीएम मयूर दीक्षित ने जिला कार्यालय में मौजूद आबकारी,पूर्ति,निर्वाचन आदि कार्यालयों के औचक निरीक्षण किया। उन्होंने यहां निरीक्षण में जो कार्मिक अनुपस्थित मिले उनके वेतन रोकने के साथ ही कारण बताओ के निर्देश भी दिए थे।

इधर आज डीएम के निर्देश पर मुख्य विकास अधिकारी व समस्त एसडीएम ने अपने-अपने क्षेत्रांर्गत स्थित विभिन्न कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया।
डीएम के आदेशों के अनुपालन मे मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार ने विकास भवन के विभागों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण में सहायक निदेशक डेयरी व जिला युवा कल्याण अधिकारी अनुपस्थित पाए गए। दोनों अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिए गए।

उधर एसड़ीएम भटवाड़ी देवेंद्र नेगी द्वारा नगर पालिका परिषद बाड़ाहाट व मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया गया जहाँ 25 नियमित कर्मचारियों में से 6 कार्मिक अनुपस्थित पाये गये।इसके अलावा 17 अनियमित कर्मचारियों में से 2 कार्मिक अनुपस्थित पाए गए। मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंर्तगत तैनात कुल 15 कार्मिकों में से 4 अनुपस्थित पाए गए, अनुपस्थित कार्मिकों के वेतन रोकने की संस्तुति की गई है।

यहाँ निरीक्षण में अतिरिक्त सूचना का अधिकार से सम्बंधित पंजिका का अवलोकन किया गया जो अपडेट नही थी। लोक सूचना अधिकारी एवं सहायक लोक सूचना अधिकारी दोनों का स्पष्टीकरण तलब किया गया है। बड़कोट में एसडीएम चतर सिंह चौहान द्वारा नगर पालिका बड़कोट एवं जल संस्थान कार्यालय का औचक निरीक्षण किया जहाँ एक-एक कार्मिक अनुपस्थित पाए गए। दोनों के वेतन रोकने की संस्तुति की गई। एसडीएम पुरोला सोहन सैनी द्वारा लोक निर्माण विभाग,पीएमजीएसवाई, खंड विकास अधिकारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया।

लोक निर्माण विभाग में 17 कार्मिकों में से 2 कार्मिक अनुपस्थित पाए गए। बीडीओ कार्यालय में 2 मनरेगा के जेई उत्तरकाशी होना बताये गए जिनके वेतन रोकने की संस्तुति की गई है। पीएमजीएसवाई कार्यालय में एक कम्यूटर आपरेटर दो माह से अनुपस्थित होना पाया गया। जबकि एक और अन्य कार्मिक अनुपस्थित पाया गया। अधिशासी अभियंता लोनिवि व अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवाई तहसील मुख्यालय से बाहर होने बताए गया। जिनकी रिपोर्ट तैयार कर डीएम को भेजी गई है।

You may have missed