उत्तरकाशी : उडरी की रामलीला के राजतिलक में पहुंचे विधायक गोपाल,लीला के समापन पर अयोध्या के राम मंदिर का भी जिक्र किया

  • संतोष साह

गंगोत्री विधायक गोपाल रावत गाजणा के उडरी गांव पहुंचे। मौका था रामलीला के राजतिलक का। उन्होंने रामलीला का भी लुत्फ उठाया और श्री राम लीला का समापन भी किया। समापन के अवसर पर अपार ग्रामीण जन समुदाय व राम भक्तों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह वर्ष बेहद खास है।

भगवान राम का राजतिलक भव्य तरीके से उसी दिन हुआ जिस दिन देश की शीर्ष अदालत ने इस पर सत्यता की मोहर लगाई की अयोध्या की भूमि श्री राम की जन्म भूमि है। जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी,यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा भव्य मंदिर का शिलान्यास किया गया। विधायक ने कहा कि कांग्रेस की अनदेखी की वजह से श्री राम अपनी ही जन्म भूमि मे कैद होकर रह गए थे लेकिन भारतीय जनता पार्टी हमेशा से ही यह मानती रही थी कि अयोध्या श्री राम की जन्म भूमि है।

जिस पर अन्ततः विश्वास व आस्था की जीत हुई।
उन्होंने विधानसभा में विकास को लेकर कहा कि गाजणा में हर गांव को सड़क से जोड़ा जा चुका है। धौंत्री स्वास्थ्य केंद्र में सभी आधुनिक सुविधाओं की व्यवस्था कराई जा रही है जबकि चिकित्सकों के आवासीय परिसर बनाने की प्रक्रिया भी गतिमान है। उन्होंने गाजणा को पर्यटन से जोड़ने की बात करते हुए कहा कि कमद-अयारकाखाल मोटर मार्ग का निर्माण कर इसे चार धाम यात्रा का प्रमुख पड़ाव बनाया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के कुशल नेतृत्व में प्रदेश विकास के पथ पर अग्रसर है।
इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष दिनेश रावत,प्रधान भाग चंद बिष्ट,विजय संतरी,अरविंद बिष्ट,गजे सिंह पोखरियाल,बीडीसी बलमा शाह,वन पंचायत अध्यक्ष आराधना रावत,महिला मंगल दल अध्यक्ष हर देई रावत, युवा मंगल दल अध्यक्ष यशपाल रावत,रामलीला समिति के सभापति भीम सिंह रावत,अध्यक्ष प्रताप पंवार,उपाध्यक्ष बलवीर राणा,मंच निर्देशक अतर सिंह रावत, सह निर्देशक मुकेश रावत,कोषाध्यक्ष पूरन सिंह कैंतुरा,सचिव त्रिलोक सिंह रावत, उप सचिव धनपाल पंवार,लीला निर्देशक बरफ चंद रमोला,कुल पुरोहित गोविंद राम भट्ट के अलावा चंदन सिंह रावत,अमर सिंह रावत,कौरी देवी,जयंती लाल,प्रेम सिंह पंवार,लक्ष्मी रावत समेत पूर्व पंचायत प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

Leave a Reply

You may have missed