उत्तरकाशी : टूरिज्म को बढ़ावा,डीएम मयूर दीक्षित पहुंचे दयारा बुग्याल के नजदीकी नटीण गांव

  • संतोष साह

एग्रो टूरिज्म व होम स्टे के माध्यम से अब नटीण गांव भी गुलजार होगा। पर्यटक रैथल,बार्सू गांव के अलावा अब नटीण से भी से भी दयारा बुग्याल जा सकेंगे। टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए डीएम मयूर दीक्षित विकास खंड भटवाड़ी के नटीण गांव पहुँचे। उन्होंने कोविड-19 के कारण प्रभावित पर्यटन गांवों में आधारभूत सुविधाएं दुरुस्त करने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों को दिए। डीएम ने गांव में चौपाल लगाकर देर सांय तक ग्रामीणों की समस्या सुनीं। ग्रामीणों द्वारा गांव में पानी की सुचारू व्यवस्था करने,मंदिर परिसर की सुरक्षा दीवार लगाने,गांव के बीच बरसाती नाले में सुरक्षातात्मक कार्य कराने एवं विद्युत आपूर्ति सुचारू रखने की मांग की। इसके अतिरिक्त ग्रामीणों ने आजीविका मिशन द्वारा वितरित मटर के बीज की निम्न गुणवत्ता को लेकर भी शिकायत की। डीएम ने गांव में आधारभूत सुविधाओं को दुरुस्त करने के साथ ही हर सम्भव समस्याओं के निस्तारण करने का भरोसा ग्रामीणों को दिया।

डीएम दीक्षित ने किसानों को पारम्परिक खेती के इतर आर्गेनिक खेती करने के साथ ही नकदी फसलों के उत्पादन पर भी जोर दिया ताकि ग्रामीणों की आजीविका के साथ आर्थिकी भी मजबूत हो सकें। उन्होंने कहा कि नटीण गांव में निर्माणाधीन हेलीपैड के अस्तित्व में आने से भविष्य में यहां और अधिक टूरिस्ट बढ़ने की प्रबल सम्भावना है। उन्होंने जिला पर्यटन विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि गांव को होम स्टे योजना से जोड़ा जाय ताकि ग्रामीणों को उनके घर पर ही रोजगार मिल सकें।
इस मौके पर डीएम ने उद्योग विभाग से लाभान्वित उद्यमी राजकेन्द्र के होम स्टे का भी उदघाटन किया और कहा कि गांव के अन्य लोगों को भी होम स्टे से जोड़ने के लिए प्रेरित करें।
डीएम के भ्रमण के दौरान खंड विकास अधिकारी भटवाड़ी दिनेश चन्द्र जोशी,पूर्व प्रधान वीरेंद्र सिंह रावत,राजकेन्द्र,विजय रावत,कमला देवी सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे।

You may have missed