उत्तरकाशी : जिले में ट्रेकरो के लिये शीघ्र बनेगी एसओपी,उच्च व निचले हिमालयी क्षेत्र में प्रवेश के लिये

  • संतोष साह

जनपद के अंर्तगत उच्च एवं निम्न हिमालयी क्षेत्रों में जाने वाले ट्रेकरों के लिए शीघ्र एसओपी बनेगी इस हेतु नेहरू पर्वतारोहण संस्थान,आईटीबीपी,ट्रेकिंग एजेंसियों,वन,पुलिस, एसडीआरएफ से महत्वपूर्ण सुझाव लिये गए। सोमवार को डीएम मयूर दीक्षित की अध्यक्षता में उच्च हिमालय क्षेत्रों में जाने वाले ट्रेकरों की सुरक्षा हेतु कार्य योजना बनाए जाने को लेकर महत्वपूर्ण बैठक हुई जिसमें कई महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए।

जिसमें ट्रैकिंग दल के पास जीपीएस, सेटेलाइट फोन,मेडिकल किट,रहने व खाने पीने के जरूरी संसाधन के साथ ही गाइड व पोर्टर का प्रशिक्षित होने का अति आवश्यक सुझाव दिया गया। ट्रेकिंग दल के पास आपदा से निपटने के लिए प्लान व सभी ट्रेक रूटों का एक नक्शा होने का भी सुझाव दिया गया।

जिसमें ट्रेक रुट में सुरक्षित रुकने का स्थान सहित हर छोटी बड़ी घटनाओं आदि की जानकारी सम्मलित हो। ट्रैकिंग करने से पूर्व मौसम पूर्वानुमान की सूचना चेकपोस्ट पर ट्रेकिंग दल को दी जाय ताकि ट्रेकिंग दल सतर्क रह सकें। इसके अतिरिक्त कई महत्वपूर्ण सुझाव प्राप्त हुए।

डीएम ने कहा कि ट्रेकिंग की व्यवस्थाओं को सुरक्षित व दुरुस्त बनाये जाने को लेकर ट्रेकिंग एजेंसियों,निम व अन्य विभागों से सुझाव लिए गए है ताकि जनपद में ट्रेकिंग हेतु एक ठोस कार्य योजना बनाई जा सकें। जिलाधिकारी ने वन विभाग की गंगोत्री,सांकरी,नैटवाड़ आदि चेक पोस्ट में ट्रेकिंग चेक लिस्ट रखने के निर्देश दिए। चेक लिस्ट के आधार पर जो ट्रेकर मानक पूर्ण कर रहे है उन्हें ही आगे की ट्रेकिंग के लिए भेजा जाए।

बिना स्वास्थ्य परीक्षण व दक्ष गाइड के ट्रेकरों को कतई भी ट्रेकिंग के लिये नही भेजने के निर्देश दिए। चेकपोस्ट पर अधिकारी,कर्मचारियों को सख्ती से नियमों का अनुपालन सुनिश्चित कराने को कहा गया। बैठक में एसपी मणिकांत मिश्रा,उप प्रधानाचार्य निम योगेश धुनल,डीएफओ पुनीत तोमर,के.के वर्मा उप निदेशक गंगोत्री नेशनल पार्क रंगनाथ पाण्डे,एडीएम तीर्थपाल सिंह,सीएमओ डॉ के.एस. चौहान, एसडीएम चतर सिंह चौहान, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल सहित ट्रेकिंग एजेंसी के पदाधिकारी व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

You may have missed