उत्तरकाशी : गंगोत्री धाम से शांति गोपाल रावत का एलान,2022 चुनाव लड़ेंगी और दिवंगत गोपाल की विकास यात्रा को आगे बढ़ाएंगी

  • संतोष साह

दिवंगत विधायक गोपाल रावत की धर्मपत्नी शांति गोपाल रावत ने आज गंगोत्री धाम से अपने चुनावी अभियान की शुरुआत कर दी है। उन्होंने गंगोत्री धाम में आशीर्वाद लेकर मिशन 2022 के चुनाव में चुनाव मैदान में उतरने का एलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि 2022 के चुनाव की दावेदारी पेश कर वे दिवंगत गोपाल के विकास कार्यों को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगी।

शांति गोपाल रावत ने मां गंगा की पूजा अर्चना कर व पुरोहितों का आशीर्वाद लेकर 2022 विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान शुरू किया। गौरतलब है कि गंगोत्री विधानसभा से 2022 में भाजपा की ओर से दिवंगत विधायक गोपाल रावत की धर्मपत्नी श्रीमती रावत टिकट की दावेदारी कर रही हैं। शनिवार को स्व. गोपाल सिंह रावत के अर्द्धवार्षिक श्राद्ध के बाद रविवार को  शांति गोपाल रावत ने गंगोत्री धाम से पूजा अर्चना कर चुनावी अभियान शुरू किया। वे अपने समर्थकों के साथ गंगोत्री धाम पहुंचकर मां गंगा की पूजा अर्चना कर उन्होंने अपने पति स्व. गोपाल सिंह रावत की स्मृति में पुरोहितों और तीर्थयात्रियों को लंगर करवाई।

इसके उपरांत उन्होंने तीर्थ पुरोहितों से आशीर्वाद लेकर 2022 विधानसभा चुनाव में गंगोत्री विधानसभा से अपनी दावेदारी के फैसले से अवगत कराया। उन्होंने कहा कि स्व. गोपाल सिंह रावत के चार साल के कार्यकाल में गंगोत्री विधानसभा में ऐतिहासिक विकास कार्य हुए हैं और क्षेत्र के विकास की यह यात्रा जारी रहे इसके लिए ही जन भावनाओं के चलते वे गंगोत्री विधानसभा ने दावेदारी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी संगठन का फैसला सिरोधार्य होगा और यदि पार्टी संगठन मुझ पर गंगोत्री विधानसभा से विश्वास जताती है तो स्व. गोपाल सिंह रावत के विकास कार्यों और उनकी छवि, ईमानदारी से गंगोत्री की जनता 2022 में भारतीय जनता पार्टी को चुनेगी।

रावत ने इस मौके पर गंगोत्री धाम में यात्रा करने पहुंचे तीर्थयात्रियों से भी मुलाकात कर यात्रा अनुभवों के बारे में जाना। इसके उपरांत श्रीमती शांति गोपाल रावत ने हर्षिल, धराली, मुखबा, झाला, सुक्की, जसपुर, पुराली गांव में भी भ्रमण कर ग्रामीणों को 2022 में भाजपा से अपनी दावेदारी के बारे में अवगत कराया व समर्थन सहयोग मांगा। इस दौरान ग्रामीण भी स्व. गोपाल सिंह रावत को याद कर भावुक हुए और कहने लगे कि गोपाल रावत की कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकता है।

इस मौके पर रावल हरीश सेमवाल, निदेशक राज्य सहकारी संघ विजय संतरी, भाजपा उपाध्यक्ष नागेंद्र चौहान, महावीर नेगी, जेष्ठ प्रमुख डुंडा गिरीश भट्ट, बालशेखर नौटियाल, मंडल अध्यक्ष धीरेन्द्र रावत, डीबीसी भूपेश रावत, जयभगवान पंवार, उमेश पंवार, जयेंद्र राणा, कुशाल पंवार, लक्ष्मण सिंह, अनवीर, गोविंद रौतेला समेत अन्य मौजूद रहे।

You may have missed