उत्तरकाशी : श्याम स्मृति वन वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर में फिर फ्रंटफुट पर आई, गिलोय को लेकर

  • संतोष साह

श्याम स्मृति वन व पर्यावरण समिति ने कोरोना की दूसरी लहर में भी मानवीयता का परिचय दिया है। कोविड केअर सेंटरों से लेकर जिला अस्पताल व जिले के विभिन्न हिस्सों में कोविड मरीजों की रफ्तार को देखते हुए समिति ने संक्रमण को कम करने और इम्युनिटी बढ़ाने के लिये गिलोय का हजारों लीटर काढ़ा तैयार कर इसे मुफ्त बांटने का कार्य फिर शुरू कर दिया है। हिमालय प्लांट बैंक के कुछ शिक्षकों द्वारा भी इस कार्य मे सहयोग देकर मदद की जा रही है।

गौरतलब है कि स्वास्थ्य विभाग व आयुष मंत्रालय द्वारा भी कोरोना से बचाव और इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिये आयुर्वेदिक काढ़े के सेवन की सलाह दी जा रही है। जिसमे गिलोय का काढ़ा भी शरीर मे रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है। यही मजबूती प्रदान करने के लिये श्याम स्मृति वन के प्रताप पोखरियाल पिछले एक वर्ष से कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कोरोना की पहली लहर से लेकर दूसरी लहर में अब तक हजारों लीटर गिलोय का काढ़ा कोविड से लड़ने के लिये मुफ्त बांट दिया है और इसे बांटने का सिलसिला अभी थमा नहीं है।

जिला चिकित्सालय से लेकर कोविड केअर सेन्टर नेताला,जीएमवीएन समेत जिले के अन्य हिस्सों में भी उनके द्वारा निःशुल्क गिलोय दिया ज रहा है। इस बीच श्याम स्मृति वन के प्रताप पोखरियाल व जिला चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. प्रेम पोखरियाल द्वारा जिला चिकित्सालय में भर्ती मरीजों को सैकड़ों गिलोय के जूस की बोतलें भेंट की गई। डॉ. पोखरियाल का कहना है कि गिलोय में कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं। उन्होंने बताया कि गिलोय का नियमित सेवन न सिर्फ कोविड बल्कि समग्र स्वास्थ्य के लिये लाभदायक है।

Leave a Reply

You may have missed