उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली म रामलीला कु तिसरू दिन,धनुष खंडन और राम-सीता विवाह ह्वे

 

  • संतोष साह

 

उत्तरकाशी जनपद में गढ़वाली भाषा मैं रामलीला के तीसरे दिवस पर धनुष खंडन के साथ ही राम-सीता विवाह का मंचन किया गया। रामलीला के तीसरे दिन का एक खास पहलु यह भी रहा कि राजा जनक व सुनैना का अभिनय कामर गांव निवासी विजय पाल चौहान व उनकी पत्नी राजवंती चौहान ने किया जो कि बधाई व प्रशंसा के पात्र रहे। इस मंचन में कमर गांव के एक पति पत्नी ने स्वयं राजा जनक एवं सुनैना का अभिनय किया। रामलीला समिति के मिडिया समन्वयक अजय प्रकाश बड़ोला ने बताया कि इस वर्ष भगवान राम की भूमिका जयेंद्र सिंह पंवार, लक्ष्मण कैलाश सेमवाल व सीता का अभिनय गंगा डोगरा कर रही है जो कि रामलीला के अनुभवी व पुराने पात्र भी रहे हैं।

इधर रामलीला के तीसरे दिवस के अवसर राम-सीता विवाह, परशुराम संवाद लोगों को बहुत ही पसंद आया। परशुराम और लक्ष्मण सवांद ने भी खूब तालियां बटोरी। परशुराम के किरदार महेंद्र पवार रहे।

उधर रामलीला के तीसरे रोज मुख्य अतिथि के रूप में एसडीएम भटवाड़ी चतर सिंह चौहान, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल व महेंद्र परमार रहे। इस मौके पर समिति के उमेश बहुगुणा,दिनेश नौटियाल ब्रह्मानंद नौटियाल, विजय भट्ट,केशर सजवाण, राजाराम भट्ट, माधव नौटियाल अनिल सेमवाल,रमेश चौहान,गजेन्द्र सिंह मटूड़ा,पुष्पा बहुगुणा,रेखा, जलमा देवी,अमर पाल रमोला अरविंद राणा,शान्ति प्रसाद भट्ट सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

You may have missed