काया क्लप योजना की एक मिसाल पेश कर रहा है उलैहनी गांव का कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय

तस्लीम आलम / सनसनी सुराग न्यूज

झिंझाना 29 अगस्त : उत्तर प्रदेश शासन द्वारा कई विभागों के लिए संचालित कायाकल्प योजना के अंतर्गत थाना क्षेत्र के गांव उलैहनी का कन्या पूर्व माध्यमि माध्यमिक विद्यालय आज के समय में एक मिसाल बना हुआ है । जिसमें प्रधानाचार्य रहे अनिल कुमार वर्मा का सहयोग अतुलनीय है । जिनके प्रयास और मेहनत का परिणाम आधुनिक स्कूल के रूप में सामने हैं ।
18 सितंबर 2018 को विद्यालय में अनिल कुमार वर्मा द्वारा कार्यभार ग्रहण किया गया, उस समय विद्यालय की हालत बहुत ही खस्ता थी। न विद्यालय में कक्षा कक्षों में टाइलीकरण था, न रंगाई पुताई थी, कक्षा कक्षों में गर्मी से बचाव हेतु तथा प्रकाश हेतु कोई विद्युत फिटिंग नहीं थी, विद्यालय प्रांगण में चारों तरफ गंदगी का अंबार था, न पेड़ पौधे थे, विद्यालय में शैक्षणिक माहौल भी नहीं था क्योंकि उक्त विद्यालय पूर्णतया अध्यापकविहीन था। विद्यालय में एकमात्र अध्यापिका रेशू वर्मा की ही नियुक्ति केवल फाइलों में दर्ज थी क्योंकि उक्त अध्यापिका विगत 4 वर्षों से लगातार बिना सूचना के अनुपस्थित चल रही थी। जिसकी गत माह ही विभाग द्वारा सेवा समाप्त कर दी गई है। अनिल कुमार वर्मा द्वारा अकेले ही समायोजन के समय में उक्त विद्यालय में कार्यभार ग्रहण करने के उपरांत उसकी कायापलट करने के संकल्प के साथ अपना कार्य शुरू किया। उस समय विद्यालय में मात्र 49 बच्चे नामांकित थे जबकि आज कक्षा 6 से 8 तक 77 बच्चे विद्यालय में शिक्षा प्राप्त कर रहे है। इसके साथ ही सभी बच्चों के लिए शैक्षिक माहौल तैयार करने के उद्देश्य से तत्कालीन ग्राम प्रधान अख्तर अली से मिलकर कक्षा कक्षों व विद्यालय प्रांगण की साज सज्जा व सौंदर्यीकरण का बीड़ा उठाया। आज विद्यालय में वृक्षारोपण के फलस्वरूप हरे भरे छायादार पेड़ पौधे, प्रांगण में सीसी सड़क का निर्माण, विद्यालय भवन की पक्के पेंट से रंगाई पुताई व चित्रकारी, बाउंड्री वाल की मरम्मत के साथ ही विद्यालय प्रांगण के दो छोटे व बड़े मुख्य द्वारों का निर्माण, कक्षाकक्षों में गुणवत्तापूर्ण विद्युत फिटिंग, सभी कक्षाओं में सीलिंग फैन, एलईडी बल्ब व ग्रीन एंड व्हाइट बोर्ड तथा परदे आदि की व्यवस्था मुख्य रूप से विद्यालय के सौंदर्यीकरण को चार चांद लगा रहे हैं।

 

विद्यालय में जल शक्ति मिशन के अंतर्गत सबमर्सिबल पम्प द्वारा पीने के स्वच्छ पानी की व्यवस्था, ओवरहेड टैंक की व्यवस्था व शौचालय में जल आपूर्ति के साथ ही बच्चों हेतु मल्टी हैंडवाश की भी व्यवस्था कर दी गई है। कुल मिलाकर आज कन्या उच्च प्राथमिक विद्यालय उल्हैनी प्राइवेट स्कूलों को भी मात दे रहा है। यह सब अनिल कुमार वर्मा द्वारा विद्यालय में अकेले रहकर किया गया है तथा इस कार्य में स्थानीय शिक्षामित्र सत्यपाल सिंह से भी सहयोग लिया गया क्योंकि अनिल कुमार वर्मा के मन में दृढ़ इच्छाशक्ति, स्थानीय जनप्रतिनिधि से सहयोग लेने की सूझ बूझ तथा विद्यालय के बच्चों को शैक्षणिक माहौल प्रदान करने का जुनून हावी था।

उनका कहना है कि विद्यालय में विभाग की ओर से मात्र 25000 रुपए की कंपोजिट ग्रांट ही विद्यालय को भेजी जाती है, इसलिए तत्कालीन ग्राम प्रधान के सहयोग के बिना विद्यालय का जीर्णोद्धार सम्भव नहीं था। अब अनिल कुमार वर्मा द्वारा 27 अगस्त 2021 को कन्या उच्च प्राथमिक विद्यालय उल्हैनी से कार्यमुक्त होकर अपने मूल विद्यालय उच्च प्राथमिक विद्यालय म्यान कस्बा में कार्यभार ग्रहण कर लिया गया है। उनका कहना है कि अब वे अपने मूल विद्यालय को भी आदर्श विद्यालय के रूप में स्थापित करने तथा ग्राम प्रधान व जनसमुदाय के सहयोग से सौंदर्यीकरण कराने के लिए पूर्ण मनोयोग से कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्हें विश्वास है कि अपने मिशन में अवश्य कामयाब होंगे। खंड शिक्षा अधिकारी कौन संजय डबराल का कहना है की अनिल कुमार वर्मा ने प्रधान के सहयोग से सराहनीय काम किया है ।