मुनस्यारी व धारचूला विकास खंड के आपदा प्रभावितों की सुध न लिये जाने पर प्रभावित संकट में

  • संतोष साह

मुनस्यारी व धारचूला विकास खंड के आपदा प्रभावितों को इस ठंड में न छत मिली और न ही कोई वैकल्पिक व्यवस्था। इस बात से नाराज इलाके के जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने आज राज्य के मुख्य सचिव को ई-मेल से पत्र भेजा है। गौरतलब है कि श्री मर्तोलिया पुत्र वियोग से अभी उभरे नहीं पा रहे है। डॉक्टरी कर रहे इनके पुत्र की 8 नवम्बर को दर्दनाक मौत हो गई थी। इतना बढ़ा धक्का लगने के बावजूद  मर्तोलिया को आपदा प्रभावितों की चिंता सत्ता रही है।

उन्होंने इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि मुख्यमंत्री ने आपदा प्रभावितों को ठंड से पूर्व अस्थाई तौर पर ठौर-ठिकाना मिल जाने का आश्वासन दिया था। मगर आज भी आपदा प्रभावित ठंड से कांप रहे हैं, नलों में पानी जम रहा है,बच्चों व बुजुर्गों को निमोनिया जैसी घातक बीमारी हो रही है बावजूद सरकार को प्रभावितों की चिंता नहीं। श्री मर्तोलिया ने कहा कि सरकार अपना कर्तव्य नही निभाती है तो फिर हमें न चाहते हुए भी सड़कों में उतरना पड़ेगा।

Leave a Reply

You may have missed