उत्तरकाशी : उत्तराखंड का पहला पिरूल पावर प्लांट उत्तरकाशी में,सीएम ने किया लोकार्पण

  • संतोष साह

पिरूल यानि चीड़ की पत्तियां जो की वनों में आग का कारण बनती आ रही हैं अब उससे बिजली पैदा होगी। उत्तराखंड में उत्तरकाशी जिले की गंगोत्री विधानसभा के चकोन में इससे बिजली बनाने का सयंत्र लग चुका है। 25 किलोवाट के पिरूल पावर प्लांट का आज प्रदेश के मुख्यमंत्री ने चकोन गांव में इसका लोकार्पण किया इसी के साथ अब इसमें बिजली बननी शुरू हो जाएगी।

लोकार्पण के मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जिसे जंगलों के विनाश कस कारण माना जाता है उसे आज हमने इस्तेमाल करना जान लिया है। अब यही पिरूल जिसे वनों से हटाने की बात होती है वह बिजली के काम आने के साथ ही रोजगार का भी एक बड़ा जरिया बनने जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के वनों मे 23 लाख मैट्रिक टन पिरूल है जिससे 2 हजार मेगावाट बिजली बन सकती है।

मुख्यमंत्री ने जहाँ एक ओर पिरूल को आर्थिकी व रोजगार से जोड़ने की बात कही तो वही उन्होंने जड़ी-बूटी से भी रोजगार और इसके उद्यम लगाए जाने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि पहाड़ में बड़े उद्योग लगना कठिन है इसलिये हमे स्थानीय स्तर पर जड़ी-बूटी में भी रोजगार तलाशने होंगे।

बिच्छु घास का ही जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यह हमें रेडिएशन से बचाता है। इसके रेशे से कपड़ा,धागा भी बन सकता है। उन्होंने कहा कि पहाड़ की पहाड़ियों में बहुत कुछ है और यही सब कुछ बहुत काम आ सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को समृद्ध और खुशहाल बनाने के लिये लगातार प्रयास जारी है। कोविड के बावजूद अभी तक 56 हजार लोगों को सिर्फ एक रुपये में पानी का कनेक्शन दे दिया है। उन्होंने कहा कि अभी 14 लाख परिवारों को पानी देना है जो एक साल के भीतर दिया जाएगा इसकी डेली मॉनिटरिंग के लिये अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने 23 लाख लोगों को अब तक अटल आयुष्मान गोल्डन कार्ड भी दिए जाने की बात कही और कहा कि देश के महत्वपूर्ण अस्पतालों में इससे इलाज निःशुल्क होगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जल्द ही तीन मेडिकल कॉलेज और अस्तित्व में आएंगे।
इससे पूर्व विधायक गंगोत्री गोपाल रावत ने अपने संबोधन में कहा कि यशस्वी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के नेतृत्व में विकास निरंतर जारी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जो कहते हैं वे करते हैं।

उन्होंने कहा कि आज गंगोत्री विधानसभा के लगभग सभी गांव सड़क से जुड़ने के करीब है। कोई आधा दर्जन सड़के बची हैं जो जल्द ही मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में स्वीकृत हो जाएंगी। विधायक ने भी स्थानीय उत्पाद को रोजगार का जरिया बनाने की ग्रामीणों से अपील की। बाद में भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश चौहान ने भी मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व में प्रदेश का विकास निरंतर होने की बात कही। इससे पूर्व मुख्यमंत्री ने पावर प्लांट का लोकार्पण किया।

इस दौरान मुख्यमंत्री, विधायक गंगोत्री, यमुनोत्री समेत अन्य को शाल ओढ़ाकर पावर प्लांट के प्रतीक चिन्ह भी भेंट किये गए।
लोकार्पण समारोह में यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत,ब्लॉक प्रमुख शेलेन्द्र कोहली,विनीता रावत, हरीश डंगवाल,विजय संतरी,सूरत सिंह गुंसाई,अजीतपाल ,रामानंद भट्ट,लोकेंद्र बिष्ट,बालशेखर नौटियाल समेत अन्य जनप्रतिनिधि,जिला पंचायत सदस्य,ग्राम प्रधान के अलावा ऊर्जा सचिव राधिका झा,डीएम मयूर दीक्षित,एसपी पंकज भट्ट समेत अन्य अधिकारी शामिल रहे।

Leave a Reply

You may have missed