मुनस्यारी की तीन बेटियां टेबल टेनिस में बनी चैंपियन,विश्वविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिता के लिये हुआ चयन

 

 

  • संतोष साह

 

भारत-चीन सीमा से लगे मुनस्यारी इलाके की तीन बेटियों का विश्वविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिता के लिये चयन हुआ है। मुनस्यारी के जिला पंचायत सदस्य जगत सिंह मर्तोलिया ने बताया कि 18 साल पहले आईआरएस नरेन्द्र सिंह जंगपांगी ने रखी थी इलाके में टेबल टेनिस की बुनियाद रखी थी। उन्होंने बताया की राजकीय पीजी कॉलेज पिथौरागढ़ में अध्ययनरत मुनस्यारी की तीन छात्राओं का टेबल टेनिस प्रतियोगिता के लिए चयन हुआ है। 18 साल पहले मतकोट में आईआरएस नरेंद्र सिंह जंगपांगी द्वारा दिगड़ी संस्था की मदद से एक टेबल टेनिस देकर इसकी शुरुआत हो गई थी। आज जिसके सुखद परिणाम आने लगे है। तीनों बालिकाएं मुनस्यारी की रहने वाली है। स्थानीय पीजी कॉलेज में आयोजित टेबल टेनिस प्रतियोगिता में विजेता बन जाने के बाद इन बालिकाओं का विश्वविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिता के लिए चयन हुआ।

मुनस्यारी की तीन बेटियां इशिता भंडारी पुत्री बी.ए द्वितीय वर्ष, डाँली कोरंगा,लवली ल्वांल बी.ए प्रथम वर्ष की छात्रा है जिनका पिथौरागढ़ पीजी कॉलेज से विश्वविद्यालय टेबल टेनिस चैंपियनशिप खेलने के लिए चयन हुआ है। उक्त तीनों बेटियां सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में पिथौरागढ़ पीजी कॉलेज का प्रतिनिधित्व किया। विश्वविद्यालय स्तरीय टेबल टेनिस प्रतियोगिता सोमेश्वर में आयोजित की गई थी।

इस प्रतियोगिता में इशिता भंडारी तथा लवली ल्वाल ने जीत दर्ज कर फिर क्षेत्र का नाम रोशन किया है।  इशिता भंडारी तथा लवली ल्वांल  हिमाचल में आयोजित विश्वविद्यालय स्तरीय नॉर्थ जोन की प्रतियोगिता में सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा का नेतृत्व करेगी।

उधर श्री मर्तोलिया ने बताया कि आपदा में टेबल टेनिस खराब हो जाने के बाद वर्ष 2018 में फिर जंगपांगी ने एक और टेबल टेनिस दिगड़ी संस्था के माध्यम से दिया।