काँधला में शारदीय नवरात्र दुर्गा अष्टमी के पर्व पर निकली गई भव्य पालकी शोभायात्रा, शोभायात्रा में श्रद्धालु गणों के साथ पुलिस बल भी रहा तैनात

कांधला नगर के मोहल्ला रायजादगान स्थित मन्दिर पुराना सिद्वपीठ श्री शाकुंभरी देवी भवन में चैत्र व शारदीय नवरात्र के उपलक्ष में भव्य पालकी शोभायात्रा का आयोजन किया जाता है नवरात्रि की दुर्गा अष्टमी पर मंदिर समिति के तत्वधान में प्राचीन परंपरा के अनुसार भव्य पालकी शोभायात्रा निकाली जाती है शनिवार को शरद नवरात्रि की दुर्गा अष्टमी के पर्व पर मंदिर समिति के तत्वधान में माता की भव्य पालकी शोभायात्रा का सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए आयोजन किया गया प्राचीन परंपरा के अनुसार मंदिर में माता की भव्य पालकी को सजाया गया तत्पश्चात शोभा यात्रा के रूप में पालकी शोभायात्रा का का शुभारंभ किया गया शोभा यात्रा मंदिर स्थल से प्रारंभ होकर ढोल नगाड़ों के साथ नगर भ्रमण करते हुए अनाज मंडी दुर्गा मंदिर पर पहुंची जहां पर पालकी में विराजित माता शाकुंभरी की प्रतिमा का मंदिर में विराजित मां दुर्गा की प्रतिमा से बहन के रूप में मिलन कराया गया।

बता दे यह परम्परागत मां शाकुंभरी जी को अपने कंधे पर मन्दिर के प्रबन्धक महंत भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय जी द्वारा नगर के मुख्य मार्गो से लेते हुए माँ की छोटी बहन मंगला माता देवी मंदिर अनाज मंडी में मिलाप कराया गया ओर माँ शाकुम्भरी जी ने अपनी छोटी बहन को आने का निमंत्रण दिया ,माँ की छोटी बहन ने बड़े बहन का निमंत्रण स्वीकार किया और चैत्र की अष्टमी को आने का वादा किया यह परम्परा हजारो वर्षो से चली आ रही है दोनो नवरात्रि की अष्टमी को बड़ी बहन जाती है और 1वर्ष में अष्टमी को छोटी बहन बैंड बाजे के साथ अपनी छोटी बहन से मिलने आती है यह मंदिर महाभारत के महाराजा कर्ण जी ने बनवाया था
तत्पश्चात शोभा यात्रा फिर से नगर भ्रमण करते हुए मंदिर स्थल पर आकर संपन्न हुई शोभायात्रा में मंदिर प्रबंधक महंत भृगुवंशी आशुतोष पांडे, शुभम भार्गव ,जयप्रकाश भार्गव,मोहित गुप्ता, अक्षय शर्मा, कुणाल शर्मा ,गुड्डू अग्रवाल ,सृष्टि भार्गव मौजूद रहे

Leave a Reply

You may have missed