इमाम हुसैन के बताए रास्तों पर चलें : मौलाना कल्बे जवाद

विशाल भटनागर/सनसनी सुराग न्यूज

कैराना। कस्बे के छोटा इमामबाड़ा में एक मजलिस का आयोजन किया गया । आयोजित मजलिस में लखनऊ से शिरकत लाएं शिया धर्मगुरु कल्बे जवाद ने खिताब करते हुए फरमाया कि कुरआन ए करीम हमारे लिए मुकम्मल हिदायत का ज़रिया है इसकी तिलावत अधिक से अधिक करते रहना चाहिए। क्योंकि हज़रत इमाम हुसैन ने तो नोके नेज़ा पर भी तिलावत करके बता दिया था कि कुरआन मौजज़ा है। हमें इमाम हुसैन की अज़ीम कुर्बानी को को याद करते हुए सबक लेना चाहिए। इसी में हमारी दुनिया में भी कामयाबी है और आखिरत में भी हमेशा हमें अपने जीवन में खुदा के बताये गये रास्तों पर चल कर जीवन जीना चाहीये।

 

मजलिस में शिया समुदाय के लोगों ने भारी संख्या में भाग लिया। मजलिस के अंत में मौलाना साहब ने मुल्को मिल्लत की सलामती के लिए दुआ कराई। नगर के प्रसिद्ध शायर कौसर ज़ैदी कैरानवी की पत्नी नजर बानो के निधन पर मरहूमा की मग्फिरत के लिए विशेष दुआएं की। इस दौरान अली हैदर, वसी हैदर, शब्बू हैदर, बब्बर अब्बास, अली अब्बास, रईस हैदर सुजात हुसैन सरवर हुसैन ,सदाकत हुसैन, सहित आदि शामिल रहे

You may have missed