उत्तरकाशी : गाय गोबर से धूप बत्ती व कंडे बनाने के बाद अजय बडोला ने गाय गोबर से बनी राखी भी बाजार में उतारी

 

  • संतोष साह

 

राखी के पवित्र त्यौहार के अवसर पर उत्तरकाशी में गाय के गोबर से बनी धूपबत्ती हवन कंडे बनाने के बाद अब राखियां भी बनाई जा रही है , इन राखियों के साथ शिव नगरी उत्तरकाशी की पौराणिक मंदिरों की फोटो, रोली अक्षत नाला भी साथ में दिया जा रहा है। अजय प्रकाश बडोला जो कि प्रबंधक पवित्रा बाल वाटिका उत्तरकाशी के अलावा गिफ्ट सेंटर की दुकान भी चलाते है उन्होंने गाय गोबर से बनी राखियों को भी गिफ्ट सेंटर में रखा है। श्री बडोला का कहना है कि बाजार में जहां विभिन्न प्रकार की चाइनीज राखियां अन्य कंपनियों की राखियां मिल रही है तो उत्तरकाशी में भी लोकल फ़ॉर वोकल से राखी बनाई जा रही है। उनका कहना है कि अब गाय के गोबर से बनी राखियां लोगों को पसंद आ रही है और रंग बिरंगी राखियां जोशियाड़ा में पहाड़ी गायों के गोबर से बनाई जा रही है। उनका यह भी कहना है कि इन राखियों के लाभ का कुछ हिस्सा गौ संरक्षण, निर्धन छात्रों की शिक्षा के लिए दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि गाय गोबर की राखी बनाने में अर्चना, मुरारी, शिवाय बडोला सहयोग कर रहे हैं।

You may have missed