उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली में रामलीला की रिहर्सल शुरू

  • संतोष साह

उत्तरकाशी में यूं तो 1952 से रामलीला होती आ रही है मगर मौजूदा श्री आदर्श रामलीला समिति द्वारा पहली बार उत्तरकाशी में गढ़वाली बोली में रामलीला का मंचन किया जाएगा। इस खबर को सुनकर लोगों को गढ़वाली बोली में रामलीला आयोजन का बेसब्री से इंतजार है। एक हफ्ते बाद लीला शुरू होने जा रही है लिहाजा पात्रों, वादकों द्वारा लीला की रिहर्सल जारी है।

You may have missed