उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली व भाषा मे रामलीला को भविष्य में मंच में उतारने को कार्यशाला जारी

  • संतोष साह

श्री आदर्श रामलीला समिति रजिस्टर्ड उत्तरकाशी द्वारा गढ़वाली भाषा व बोली में रिहर्सल को लेकर कार्यशाला का क्रम जारी है। इसके लिये समिति से जुड़े प्रतिनिधि,पात्र,वादक,डिजाइनर,उदघोषक, निर्देशक,साजो सज्जा समेत समिति के अन्य महत्वपूर्ण कार्यों से जुड़े लोग गढ़वाली में रामलीला को लय में लाने के लिये लगातार प्रयास में हैं। रामलीला समिति के मीडिया परामर्शदाता ने उक्त आशय की जानकारी दी। कार्यशाला में जुड़े लोगों में अध्यक्ष रमेश चौहान, महासचिव भूपेश कुड़ियाल, उदघोषक जयेंद्र पंवार,राधा बल्लभ नौटियाल, ब्रह्म नंद नौटियाल, गजेंद्र मटूड़ा,विक्रम शाह,कमल सिंह रावत,चंद्र मोहन पंवार, महेंद्र पंवार,सुंदर लाल नाहटा, कैलाश सेमवाल, नौबर कठेत,माधव नौटियाल, प्रहलाद सिंह,विजय प्रकाश भट्ट,दिनेश नौटियाल, रमन सेमवाल,अरविंद राणा समेत अधिकांश शामिल हैं।

Leave a Reply

You may have missed