उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली व भाषा में रामलीला की कार्यशाला,विधायक धनोल्टी प्रीतम,केदारनाथ मनोज रावत,लैंसडाउन दिलीप रावत व राजपुर खजान दास भी पहुंचे

  • संतोष साह

उत्तरकाशी रामलीला समिति द्वारा एक हफ्ते की कार्यशाला जो की गढ़वाली भाषा व बोली को लेकर ट्रांसलेट हो रही है को देहरादून के रेस कोर्स में गुड रिस्पॉन्स भी मिल रहा है। सरकार समेत विपक्ष के माननीय भी इस कार्यशाला में समिति के होस्लाफजाई को शिरकत कर रहे हैं। सभी माननीयों द्वारा समिति के इस कार्य की प्रशंसा की जा रही है।

माननीय समिति को अपना पूर्ण सहयोग देने की भी बात कर रहे हैं। कार्यशाला में बीते रोज से आज तक तीन विधायकों ने कार्यशाला में पहुंचकर समिति का आमंत्रण स्वीकार किया। विधायक धनोल्टी प्रीतम पंवार ने समिति के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि इससे हमारी बोली व भाषा को संरक्षण मिलने के साथ ही रामलीला में भी लोगों को स्थानीय भाषा के मंचन होने से अपनी संस्कृति को लेकर भी बहुत कुछ नयापन मिलेगा।

उन्होंने समिति को अपना पूर्ण सहयोग देने की बात कही। केदारनाथ के विधायक मनोज रावत ने भी गढ़वाली भाषा में कार्यशाला को बेहतर प्रयास बताया। उन्होंने समिति के इस कार्य की सराहना की। उन्होंने कहा कि समिति द्वारा कार्यशाला के उपरांत जब भी स्थानीय भाषा में इसका ग्रंथ बनेगा उसमें वे पूर्ण सहयोग देंगे और इस पुस्तिका को अपने विधानसभा में भी पहुंचाएंगे। लैंसडाउन के विधायक दिलीप रावत ने कार्यशाला में पहुंचकर समिति के इस कार्य को लेकर खुशी जाहिर की।

उन्होंने इस कार्य को एक अच्छा प्रयास बताया। उन्होंने कहा कि वे भी रामलीला से जुड़े रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि गढ़वाली भाषा में इस नए प्रयास के बाद जो संकलन आयेगा उसका उन्हें इंतजार रहेगा। श्री रावत ने कहा कि वे भी अपनी विधानसभा के गावों में इसको उपलब्ध कराएंगे ताकि वहां आयोजित रामलीला में भी इस भाषा में मंचन का प्रयास हो सके। राजपुर के विधायक व पूर्व मंत्री खजान दास ने कहा कि वे स्वयं पूर्व में रामलीला के पात्र रहे हैं। रामलीला से उनका नाता रहा है। उन्होंने कहा कि स्थानीय भाषा में रामलीला मंचन की शुरुआत को लेकर जो तैयारी की जा रही है वह स्वागत योग्य है।

 

उन्होंने समिति के इस कार्य को पूर्ण सहयोग देने की भी बात कही।
इससे पूर्व उक्त माननीयों के कार्यशाला में पहुंचने पर समिति द्वारा इनका फूलमालाओं से स्वागत भी किया गया। कार्यशाला संयोजक जयेंद्र सिंह पंवार ने माननीयों के स्वागत में समिति द्वारा उठाए कदमों की जानकारी दी। इस अवसर पर कार्यशाला के प्रतिभागी गजेंद्र मट्डा,दिनेश नौटियाल,कैलाश सेमवाल,विजय चौहान,विक्रम शाह,राधा वल्लभ नौटियाल,प्रताप सिंह रावत,कमल सिंह रावत, बचन लाल भट वान,महेंद्र सिंह पंवार,केशर सजवाण,अरविंद राणा आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

You may have missed