उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली में रामलीला का दूसरा दिन,भगवान राम के जन्म की हुई लीला

 

  • संतोष साह

 

उत्तरकाशी के रामलीला मैदान में इस बार श्री आदर्श रामलीला समिति द्वारा गढ़वाली बोली में रामलीला का मंचन किया जा रहा है। जिसे देखने को लोगों में काफी उत्साह नजर आ रहा है। समिति की प्रशंसा भी हो रहीं है। लोग केबल नेटवर्क व सोशल मीडिया के माध्यम से भी लीला का रसपान कर रहे हैं।

इस बीच रामलीला मंचन के दूसरे दिन भगवान राम,लक्ष्मण भरत व शत्रुघ्न का जन्म राजा दशरथ के महल का दृश्य आकर्षण का केंद्र रहा। बाल राम के रूप में आयुष पंवार व लक्ष्मण की भूमिका महर्षि नौटियाल की रही। उधर लीला में एक अन्य मंचन ताडिका -सुबाहु वध का भी हुआ जिसमें ताडिका का गंगा तुलसी ने सुंदर अभिनय किया। लीला में विश्वामित्र की भूमिका में महेंद्र पंवार, कौशल्या आयुषी,केकई नीलकमल, सुमित्रा कविता आदि जो कि महिला पात्र रहे शामिल थे। लीला में राम जन्म के अवसर पर अजय बडोला द्वारा निर्मित गाय के गोबर से निर्मित दीपक जलाए गए। लीला में मुख्य अतिथि काशी विश्वनाथ मंदिर के महंत जयेन्द्र पुरी के अलावा विशिष्ट अतिथियों में भी कई शामिल रहे। लीला के सफल संचालन में जयेन्द्र पंवार,दिनेश नौटियाल, केशर सजवाण,गजेंद्र मटूड़ा,ब्रह्म नंद नौटियाल, उमेश बहुगुण,रमेश चौहान, चंद्र मोहन पंवार,उषा चौहान, पुष्पा बहुगुणा, अमर पाल रमोला, अरविंद राणा,विक्रम शाह,अजय बडोला समेत अन्य समिति के सदस्यो का सहयोग जारी है।

You may have missed