उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली में रामलीला के दशवें भाग की कार्यशाला का शुभारंभ काशी विश्वनाथ के महंत जयेन्द्र पुरी ने किया

 

 

  • संतोष साह

 

शुभ दीपावली पर्व के उपरांत श्री आदर्श रामलीला समिति उत्तरकाशी द्वारा गढ़वाली बोली में रामलीला की कार्यशाला के 10 वें भाग का शुभारंभ आज होटल शिवलिंगा में काशी विश्वनाथ के महंत जयेन्द्र पूरी ने दीप प्रज्वलित कर किया। गौरतलब है कि समिति द्वारा आयोजित कार्यशाला को होटल शिवलिंगा में सहयोग महंत काशी विश्वनाथ द्वारा ही दिया गया है। कार्यशाला 7 नवम्बर तक चलेगी। कार्यशाला के शुभारंभ के बाद महंत काशी विश्वनाथ ने समिति के प्रयास की सराहना की। उन्होंने समिति को हर संभव पूर्ण सहयोग देने की बात कही।

इस अवसर पर कार्यशाला के संयोजक जयेन्द्र सिंह पंवार ने बताया कि कार्यशाला का यह अंतिम भाग एक तरह से समापन होगा। इसके बाद समूर्ण कार्यशाला में गढ़वाली बोली रामलीला के संकलन को एक पुस्तक का रूप दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उक्त कार्यशाला के उपरांत जल्द ही गढ़वाली बोली में रामलीला की पुस्तक का प्रकाशन कर लिया जाएगा। इससे पूर्व कार्यशाला के शुभारंभ के मौके पर उन्होंने कार्यशाला में शामिल सभी समिति से जुड़े लोगों का परिचय भी कराया। कार्यशाला शुभारंभ पर संरक्षक रमेश चौहान, अध्यक्ष गजेंद्र मटूड़ा,प्रबंधक भूपेश कुड़ियाल,दिनेश नौटियाल, राधा बल्लभ नौटियाल, माधव नौटियाल,प्रताप सिंह रावत,विक्रम शाह,बचन लाल , महादेव,अनिल सेमवाल,शिव प्रसाद भट्ट,प्रहलाद, महेंद्र पंवार,अजय पंवार, गंगा पंडित,विजय चौहान समेत अन्य मौजूद थे।

You may have missed