उत्तरकाशी : गढ़वाली बोली में रामलीला ! कैकई ने मांगे दो वर, राम आज जायेंगे सीता और लक्ष्मण संग वनवास

  • संतोष साह

 

आदर्श रामलीला समिति द्वारा आयोजित प्रथम गढ़वाली रामलीला में कल कैकई ने राजा दशरथ से दो वर जिसमे भरत को राज पाठ व राम को 14 वर्ष का वनवास मांग लिए। लीला में अंतिम दृश्य वनवास की तैयारियों का रहा। उधर आज रामलीला मंचन में राम लक्ष्मण व सीता संग वन को प्रस्थान करेंगे ।

इधर रामलीला का लाइव प्रसारण कर्तव्य फाउंडेशन अपने सांस्कृतिक मंच कर्तव्य मंच के माध्यम से देश विदेश के राम भक्तों तक पहुँचा रहा है। रामलीला समिति के प्रमुख उद्घोषक व राम का अभिनय कर रहे जयेंद्र पंवार ने बताया कि पहली गढवाली रामलीला को दर्शकों द्वारा सराहा जा रहा है। रामलीला के पंडाल में बैठे व मीडिया से जुड़े दर्शकों द्वारा भी प्रोत्साहन भरी सराहना प्राप्त हो रही है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 के कारण दो साल तक जनपद की रामलीला बाधित रही तो उन्होंने इस बीच वरिष्ठ कलाकारों के साथ विमर्श कर उत्तरकाशी की इस बहु चर्चित रामलीला को पूर्ण गढवाली रूप देने का निर्णय लिया और इसके लिये राजधानी देहरादून समेत जिले के विभिन्न स्थानों में समय-समय पर कार्यशाला आयोजित कराई फलस्वरूप इस बार उसे मंच में उतारने में सफल रहे।

रामलीला मंचन से लेकर आयोजन में सहयोग करने वालों में समिति के उमेश बहुगुणा,दिनेश नौटियाल ब्रह्मानंद नौटियाल, विजय भट्ट,केशर सजवाण, राजाराम भट्ट, तस्दीक खान,माधव नौटियाल ,अनिल सेमवाल,रमेश चौहान,गजेन्द्र सिंह मटूड़ा,पुष्पा बहुगुणा,रेखा,जलमा राणा,अमर पाल रमोला, अरविंद राणा,शिव प्रसाद भट्ट ,चन्द्र मोहन सिंह पंवार,रुकम चंद, विक्रम शाह,प्रताप सिंह रावत,कैलाश सेमवाल सहित अन्य लोग शामिल हैं।

You may have missed