उत्तरकाशी : पहली बार गढ़वाली बोली में रामलीला भा रही है दर्शकों को

 

  • संतोष साह

 

उत्तरकाशी जनपद में गढ़वाली भाषा मैं पहली बार रामलीला दर्शकों समेत केबल नेटवर्क व सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को खूब भा रही है। रामलीला का चार दिन का मंचन हो चुका है आज रामलीला पांचवे दिन में प्रवेश करेगी। रामलीला के चतुर्थ दिन राज्याभिषेक के अलावा केकई -मंथरा सवांद भी गढ़वाली बोली मे लोगों को खूब भाया।

उत्तरकाशी आदर्श रामलीला समिति की परंपरा रही है कि प्रत्येक रोज अतिथियों को भी आमंत्रित करने की। चतुर्थ दिवस पर अतिथि के रूप में महिला मंगल दल साल्ड की महिलाएं अध्यक्ष विजया देवी के नेतृत्व पहुंची जिन्होंने स्थानीय संस्कृति से अपने को रूबरू कराया। इस मौके पर समिति के उमेश बहुगुणा,दिनेश नौटियाल ब्रह्मानंद नौटियाल, विजय भट्ट,केशर सजवाण, राजाराम भट्ट, तस्दीक खान,माधव नौटियाल ,अनिल सेमवाल,रमेश चौहान,गजेन्द्र सिंह मटूड़ा,पुष्पा बहुगुणा,रेखा, जलमा देवी,अमर पाल रमोला अरविंद राणा,शान्ति प्रसाद भट्ट , चन्द्र मोहन सिंह पंवार सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

You may have missed