उत्तरकाशी : कोर्ट के आदेश व सरकार की एसओपी का अनुपालन सुनिश्चित कराने को डीएम मयूर दीक्षित पहुंचे यमुनोत्री धाम,व्यवस्थाओं का लिया जायजा

  • संतोष साह

 

चारधाम यात्रा को लेकर हाईकोर्ट से रोक हटने के साथ ही शनिवार को चारधाम यात्रा की विधिवत शुरुआत हो गई है और जनपद में दो धाम यमुनोत्री व गंगोत्री के कपाट अब श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए है। गौरतलब है कि कोविड-19 को लेकर दोनों धामों के कपाट श्रद्धालुओं के लिए बन्द किये गए थे मगर गंगा व यमुना की पूजा नियमित चल रही थी।

 

इस बीच आज से शुरू हुई यात्रा को देखते हुए डीएम मयूर दीक्षित व उनके साथ एसपी मणिकांत मिश्रा ने यमुनोत्री धाम का भ्रमण कर यात्रा व्यवस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण कर जायजा लिया। हाईकोर्ट के आदेशों व राज्य सरकार द्वारा जारी चारधाम यात्रा की एसओपी का अनुपालन सुनिश्चित कराने को लेकर डीएम दीक्षित द्वारा निरीक्षण किया गया। उन्हें यात्रा पड़ावों पर आधारभूत सुविधाएं चाकचौबंद मिली। कोविड प्रोटोकॉल को लेकर यात्रा मार्गों व मंदिर परिसर में जागरूकता फ्लेक्सी,बैनर, साइन बोर्ड, सोशल डिस्टेंस को लेकर पुख्ता व्यवस्था पायी गई। इसके अतिरिक्त धाम परिसर में पर्याप्त पुलिस जवान की भी तैनाती की गई है। कोविड केयर सेंटर यमुनोत्री धाम में जीवन रक्षक दवाई के साथ ही पर्याप्त ऑक्सीजन,मास्क,सेनेटाइजर की व्यवस्था की गई है तथा तत्कालिक व्यवस्था हेतु ऑक्सीजन युक्त दो बैड भी स्थापित किए गए है जिसे और बढ़ाने के निर्देश सीएमओ को दिये गए है। इस अवसर पर डीएम ने यमुनोत्री धाम मंदिर में माँ यमुना जी की पूजा-अर्चना कर जनपदवासियों की ख़ुशहाली की भी कामना की।

डीएम ने बताया कि जनपद के दोनों धाम में बाहरी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं का ऑनलाइन पास होना अनिवार्य है तथा जिन श्रद्धालुओं की कोरोना जांच नहीं हुई है उनकी जांच जनपद की सीमा पर लगी चेक पोस्ट पर स्वास्थ्य टीम द्वारा की जा रही है। उधर एसपी श्री मिश्रा ने पुलिस जवानों को कोविड प्रोटोकॉल व राज्य सरकार द्वारा जारी एसओपी का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि दोनों धाम में सुरक्षा व्यवस्था को मध्य नजर रखते हुए पुलिस जवानों की अतिरिक्त तैनाती भी की गई है। डीएम के निरीक्षण के दौरान एसडीएम बड़कोट शालिनी नेगी समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

You may have missed