उत्तरकाशी : डीएम के निर्देश पर कोविड तीसरी लहर की संभावना मद्देनजर ब्लॉक के दो-दो मेडिकल अफसरों को पांच दिन का प्रशिक्षण

  • संतोष साह

 

डीएम मयूर दीक्षित के दिशा निर्देशों के क्रम में कोरोना संक्रमण महामारी की तीसरी लहर की संभावना के दृष्टिगत जनपद मुख्यालय के रेडक्राॅस भवन में मास्टर ट्रेनर डाॅ. एस.एस.चौहान बाल रोग विशेषज्ञ , डाॅ. अभिषेक मंमगाई एवं डाॅ.निकिता मंमगाई एनेस्थेटिक द्वारा जनपद के समस्त ब्लाॅक के 2-2 चिकित्सा अधिकारियों को कोरोना संक्रमण बचाव, आईसीयू एवं वेंटिलेटर के संबंध में पाँच दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है।

इस प्रशिक्षण में डाॅ. चौहान द्वारा प्रतिभागियों को कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत जनपद के सुदूर गांवों में बच्चों में होने वाले संक्रमण के साईन और सिमटम्स् के संबंध में जानकारी दी गई कि किस तरह से सीमित साधनों में बीमारी की पहचान करेंगे, किस मरीज को हम घर पर ठीक कर सकते हैं,किस मरीज को चिकित्सालय में भर्ती करना है एवं किस मरीज को हाॅयर सेंटर रेफर करना है। इसके अतिरिक्त उपचार में उपयोग होने वाली दवाईयों की समुचित जानकारी प्रदान कराई जा रही है।

प्रशिक्षण के प्रथम दिन डाॅ.के.एस. चौहान मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा प्रतिभाग करने के साथ अवगत कराया गया कि कोरोना संक्रमण महामारी की तीसरी लहर की संभावना के दृष्टिगत प्रत्येक ब्लाॅक के 2-2 चिकित्सा अधिकारियों को प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। जिनके द्वारा ब्लाॅक स्तर पर चिकित्सा अधिकारियों, फार्मासिस्टों एवं स्टाफ नर्सों को प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा।

इसके अतिरिक्त सूक्ष्म पोषक तत्व कार्यक्रम के अन्तर्गत डाॅ. सुजाता सिंह एवं डाॅ. कुलवीर राणा,अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी की अगुवाई में राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम टीम, एएनएम एवं आशा कार्यकत्री के सहयोग से आपदा प्रभावित गांवों का भ्रमण कर 0 से 18 वर्ष के बच्चों को विटामिन ‘ए’ की खुराक खिलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया साथ ही मेंटल हेल्थ की टीम द्वारा आपदा प्रभावित लोगों की काउंसलिंग की गई।

You may have missed