उत्तरकाशी : कोविड-19 को लेकर लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी, कार्मिक पूर्ण जिम्मेदारी व गंभीरता से कार्य करना सुनिश्चित करें : डीएम दीक्षित

  • संतोष साह

डीएम मयूर दीक्षित ने कोविड-19 को गंभीरता से लिया है। पुरोला में होम आइसोलेशन मे रखे व्यक्ति को पल्स ऑक्सीमीटर व आवश्यक जांच न करने पर डॉ. पंकज व एमओआईसी पुरोला डॉ. आर.सी.आर्य के माह अप्रैल के वेतन रोकने के निर्देश डीएम ने दिए। उन्होंने साफ कहा कि कोविड में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी लिहाजा जिम्मेदार कार्मिक कार्यों को गंभीरता से लेना सुनिश्चित करें। कोरोना संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण व रोकथाम को लेकर उन्होंने सभी एसडीएम व मेडिकल अफसरों को बुलाकर जरूरी निर्देश दिए।
डीएम ने उक्त अधिकारियों की बैठक में कहा कि कुंभ ड्यूटी में गए जनपद के कार्मिक वापस लौट रहे हैं इसलिए कोरोना की रोकथाम व प्रभावी नियंत्रण के दृष्टिगत जिले की सीमा नगुण व डांमटा में सभी कर्मिको का अनिवार्य रूप से आरटीपीसीआर टेस्ट कराना सुनिश्चित करे साथ ही इन सभी कर्मिको को यह भी सुनिश्चित कराया जाय कि जब तक कोविड टेस्ट की रिपोर्ट नहीं आ जाती तब तक होम आइसोलेशन में बने रहें। डीएम ने निर्देश दिए कि यदि कोई भी कॉमिक इसका उलंघन करेगा तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जाय। डीएम ने कोविड सैम्पल बढ़ाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने हॉस्पिटल में आने वाले मरीजों के भी अनिवार्य रूप से कोविड टेस्ट किये जाने के भी निर्देश दिए। डीएम ने यह भी कहा है कि कोरोना पॉजिटिव मरीज से किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। डीएम ने नगर में लोगों को मास्क व सामाजिक दूरी बनाए जाने के लिये जागरूक करने के भी निर्देश दिए। उधर डीएम ने सभी चिकित्सा अधिकारियों को 25 अप्रैल तक सभी विकास खंडों में वैक्सीनेशन 90 प्रतिशत का लक्ष्य पूर्ण करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने यह भी बताया कि जिले में टीके की कमी नहीं है साथ ही हर दो दिन में वेक्सीन की आपूर्ति हो रही है। बैठक में एसपी ददन पाल,सीएमओ डॉ. जोशी,प्रमुख अधीक्षक जिला अस्पताल डॉ. सकलानी समेत सभी एसडीएम व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

You may have missed