कोरोना, ब्लैक फंगस से बचाव करें :- ऑक्सीजन बढ़ायें – इम्यूनिटी बढ़ायें

डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा / सनसनी सुराग न्यूज

कोरोना काल में हमने अच्छी प्रकार समझा है कि कोरोना ,ब्लैक फंगस जैसे वायरस जनित रोगों के होने का मुख्य कारण इम्यूनिटी का कमजोर होना है । जी हाँ आपने बिल्कुल सही समझा है । तो अब यह भी समझने का प्रयास करते हैं कि यह इम्यूनिटी है क्या ? और यह कम क्यों हो जाती है ? इम्यूनिटी को कैसे मजबूत ( boostup ) करें / बढ़ायें ?
कोरोना व अन्य संक्रामक कीटाणु/जीवाणु के संक्रमण से बचाव के लिए हमारे शरीर में एक पूरी सुरक्षा प्रणाली होती है ।जिसे प्रतिरोधक क्षमता ( Immunity ) कहते हैं ।इस सुरक्षा तंत्र /Immunity के कमजोर पड़ने पर हम रोगजनकों / pathogens ( bacteria , Virus etc ) आदि के संक्रमण से आसानी से शिकार हो जाते हैं। सुरक्षा तंत्र /Immunity / Immune system का कार्य परजीवी, वायरस, बैक्टीरिया आदि आंखों से दिखाई न देने वाले रोगजनकों / pathogens के आक्रमण से हमारी सुरक्षा करना है ।सुरक्षा तंत्र / white cells में मुख्यतः टी- सैल्स, बी- सैल्स व डेंड्रीटिक (dendritic ) सैल्स होते हैं ।इनका कार्य इन रोगजनकों / pathogens को पहचानना,उन्हें नष्ट करना तथा अपनी स्मृति में अंकित कर लेना है । ये एक प्रकार के मोनोसाइट्स ( monosaits) होते हैं जो किसी भी प्रकार की अच्छी/ खराब कोशिकाओं की पहचान करने में सक्षम होते हैं और खराब कोशिकाओं को नष्ट कर देते हैं ( खा जाते हैं ) और उनकी पहचान अपनी स्मृति में ड़ाल लेते हैं जैसे ही कोई खराब कोशिश हमारे शरीर में पहुंचती है /बनती है उसे तुरन्त पहचान कर खा लेते हैं और इस प्रकार रोगजनकों से हमारा शरीर सुरक्षित रहता है।


हमारा सुरक्षा तंत्र /Immunity कई कारणों से कमजोर हो जाता है, उनमें मुख्य हैं पूरी व गहरी नींद का न होना , पोषक तत्वों ( nutrients ) की कमी होना , क्षमता से अधिक श्रम करना , अधिक समय तक तनावग्रस्त रहना , शरीर में ऑक्सीजन की कमी होना । इनमें सबसे अधिक महत्वपूर्ण है ऑक्सीजन की कमी का होना क्योंकि हममें से अधिकांश लोग मानते हैं कि श्वास तो अपने आप आती है अपने आप जाती है जबकि श्वास यौगिक विधि से लेनी चाहिए ।

 

अतः कोरोना , ब्लैक फंगस व अन्य संक्रामक कीटाणु/जीवाणु के संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षा तंत्र /Immunity को मजबूत करने हेतु ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाना सबसे अधिक जरूरी भी व महत्वपूर्ण भी है ।और ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने के लिए श्वसन क्रिया को यौगिक विधि से करने के अभ्यास के साथ साथ निम्न उपाय भी अवश्य करने चाहिए : —
1. 1:4:2 के अनुपात में प्राणायाम ( सोम्य भस्त्रिका प्राणायाम ), कपालभाति व अनुलोम विलोम प्राणायाम का अभ्यास 10 – 10 मिनट तथा तीव्र भस्त्रिका प्राणायाम का अभ्यास 5 मिनट प्रतिदिन अवश्य करें ।
2. 10 – 10 बार भ्रामरी व उदगीथ प्राणायाम का अभ्यास करें ।
3. प्रतिदिन कुछ समय ध्यान अवश्य करें ।
उपरोक्त उपायों को समझने व अभ्यास करने हेतु प्रातः6.00 बजे व/या सायं 4.00 बजे Goole meet पर लिंक https://meet.google.com/aan-djxy-jbi पर क्लिक कर सकते हैं अथवा कोड aan-djxy-jbi एन्टर कर सकते हैं ।
इं० राम औतार तायल
बी०ई०सिविल , एम०ए०योग
योग प्रशिक्षक एवं प्रान्तीय सचिव
(मेरठ प्रान्त) आरोग्य भारती
मो० 8532089087

Leave a Reply

You may have missed