उत्तरकाशी : कोविड संक्रमण बचाव को लेकर डीएम दीक्षित ने नागरिक संगठनों व स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ की महत्वपूर्ण बैठक

  • संतोष साह

डीएम मयूर दीक्षित ने कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों व जन जागरूकता तथा सरकार द्वारा जारी एसओपी का अनुपालन सुनिश्चित कराने को लेकर नागरिक संगठन व स्वयं सेवी संस्थाओं के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। डीएम ने कहा कि कोविड 19 से बचाव को लेकर स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा जनजागरूकता अभियान में सक्रिय सहभागिता निभाई गई है। उन्होंने कहा हालांकि कोरोना की दूसरी लहर में केस कम आ रहे हैं लेकिन फिर भी हमें कोरोना से बचाव के लिए अपनाई जाने वाली सावधानियों में कतई भी ढिलाई नही करनी है। उन्होंने कहा कि जनपद के सुदरवर्ती गांवों तक आमजन को जागरूक करने के लिए प्रशासन के साथ-साथ स्वयं सेवी संस्थाएं भी बढ़-चढ़ कर कार्य करें।डीएम ने जनपद के सुदरवर्ती गांवों में एनसीसी,एनएसएस,स्काउट गाइड,नेहरू युवा केन्द्र के वॉलिंटियर को कोरोना से बचाव को लेकर आमजन को अनिवार्य रूप से मास्क पहनने,हाथ सेनेटाइजर करने,सोशल डिस्टेंस के बारे में जागरूक करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने इसके लिये जिला शिक्षा अधिकारी को प्लान बनाने के निर्देश दिए। प्लान के अंर्तगत एनसीसी व एनएसएस के कैडेट को कोरोना संक्रमण व वेक्सीनेशन के बारे में अपने  ही गांव में पांच-पांच परिवार को जागरूक करने को कहा गया।
श्री दीक्षित ने कहा कि एसओपी के अंतर्गत वाहनों को शत-प्रतिशत सवारी लाने व ले जाने की छूट है इसलिये हर छोटे बड़े वाहनों में एसओपी का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश एआरटीओ को दिए। उन्होंने वाहनों को नियमित रूप से सेनिटाइजर करने व गाड़ी के अंदर मास्क रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने आपदा प्रबंधन विभाग को प्रत्येक टैक्सी यूनियन को एक- एक हजार मास्क देने व व्यापार मंडल को भी एसओपी का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि बैंकों में ज्यादा लोगों का आवागमन होता है इसलिए बैंकों में भी सख्ती के साथ एसओपी का अनुपालन कराया जाए साथ ही हर 15 दिन के अन्तराल में बैंक कर्मियों की कोरोना जांच की जाय। इसके लिये जिला लीड बैंक अधिकारी को सभी बैंक का नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने गरपालिका व नगर पंचायतों को प्रत्येक रविवार को बाजार, बैंक,एटीएम तथा सार्वजनिक स्थलों की फॉगिंग व सेनिटाइजर करने के भी निर्देश दिए।
बैठक में जनपद में मानसिक रोग से पीड़ित रोगियों के लिए काम कर रही बुरांस संस्था द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में करीब 600 लोग है जो मानसिक रूप से बीमार है इसमें 60 ऐसे लोग है जिन्हें सालभर दवाई खानी पड़ती है मगर उनकी आर्थिकी स्थिति खराब होने के कारण वे दवाई नही खरीद पाते है। जिस पर डीएम ने तत्काल संज्ञान लेते हुए अपर मुख्य चिकित्साधिकारी को दवाई खरीदने की प्रक्रिया को आरंभ करने व सम्बंधित रोगियों को सालभर की दवाई उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

बैठक में पुलिस अधीक्षक मणिकांत मिश्रा,एसडीएम देवेंद्र नेगी,आकाश जोशी, चतर चौहान, सोहन सैनी, जिला शिक्षा अधिकारी रामेंद्र कुशवाह,एसीएमओ डॉ वी.के. विश्वास, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल सहित रेडक्रॉस चेयरमैन अजय पूरी,जाड़ी संस्था के द्वारिका सेमवाल,रिलायंस के कमलेश गुरुरानी, टैक्सी यूनियन के दीनानाथ नोटियाल,मेजर जमनाल सहित अन्य उपस्थित थे।

You may have missed