उत्तरकाशी : भटवाड़ी में कांग्रेस की जनाक्रोश रैली,वर्तमान सरकार पर किया जमकर प्रहार

 

 

  • संतोष साह

 

 

भटवाड़ी मुख्यालय में पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण के नेतृत्व में ब्लॉक कांग्रेस की जनाक्रोश एवं परिवर्तन रैली निकली जिसमे वर्तमान सरकार के निराशाजनक रवैये के खिलाफ पूर्व विधायक के नेतृत्व में लोगों ने सड़क पर उतरकर जमकर आक्रोश व्यक्त किया। चडेथी बस अड्डे पर हुई जनसभा मे पूर्व विधायक ने वर्तमान सरकार पर आरोप लगाया कि 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने इस क्षेत्र के लोगों के साथ बड़े-बड़े वायदे कर सत्ता तो प्राप्त कर ली लेकिन सरकार का कार्यकाल खत्म होने को है किन्तु अभी तक ये वायदे जुमले ही साबित हुए है। उन्होंने आरोप लगाया कि चढेथी ओर भटवाड़ी बाजार की स्थित आज वीरान पड़ी है, लेकिन अफसोस है कि इन 5 सालों में एक भी पत्थर इस बाजार की स्थिति को सुधारने के लिए लगाया गया हो। उन्होंने कहा कि 2012-13 की बाढ़ में भू-वैज्ञानिकों की रिपोर्ट के अनुसार यहां ट्रीटमेंट कार्य करने की मनाही थी, किन्तु उन्होंने अपने रिस्क पर तत्कालीन समय मे करोड़ों के सुरक्षात्मक कार्य करवाकर खतरे में झूल रहे बाजार को प्रारंभिक सुरक्षा देने का काम किया।

 

उन्होंने कहा कि 2004 में तत्कालीन तिवारी सरकार के नेतृत्व में यहां की जलविद्युत परियोजनाओं को प्रारंभ कर स्थानीय रोजगार की दिशा में मजबूत पहल की शुरुआत हुई लेकिन केंद्रीय मंत्री गडकरी कोरी घोषणा कर भी 5 साल तक मूकदर्शक बने रहे। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि ये केवल चुनावी जुमलों के वायदे ही करते है और, भटवाड़ी क्षेत्र के लिए एक भी इनकी उपलब्धि हो तो ये सामने आकर बताएं।

उन्होंने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी वर्तमान सरकार को घेरा और

विभिन्न योजनाओं में भारी अनियमितता होने की बात कही।

उन्होंने यहाँ आम जनमानस से आह्वान किया कि 2022 के विधानसभा चुनाव के बाद आपके आशीर्वाद से जो भी जिम्मेदारी मिलेगी, उनकी पहली प्राथमिकता रहेगी कि यहां के लंबित जनहित के महत्वपूर्ण विकास कार्य प्राथमिकता से हों।

उधर रैली में 100 से अधिक लोग भाजपा व अन्य दलों को छोड़कर कांग्रेस में सम्मिलित हुए। इस अवसर पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष जगमोहन रावत, नगरपालिका अध्यक्ष रमेश सेमवाल, पूर्व राज्यमंत्री घनानंद नौटियाल, महिला कांग्रेस अध्यक्ष मीना नौटियाल, मनोज मिनान, सुनील रौतेला, मनोज रावत, मनोज राणा, सुदर्शन चौहान, महेंद्र पोखरियाल, राजकेन्द्र थनवाण, विपिन राणा, अनिल रावत, मनीष राणा,विवेक नौटियाल, भवानी, सुदेश रावत, राकेश सेमवाल, जयप्रकाश रावत, सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।