उत्तरकाशी : न्यायमूर्ति हाइकोर्ट मनोज तिवारी ने बगोरी,हर्षिल को दी कानूनी सहायता क्लिनिक की सौगात

 

  • संतोष साह

 

उत्तरकाशी के गंगा ग्राम बगोरी (हर्षिल) को न्यायमूर्ति हाईकोर्ट मनोज तिवारी ने कानूनी सहायता क्लिनिक की सौगात दी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में लीगल एड क्लीनिक के माध्यम से इससे स्थानीय ग्रामीणजनों को मिलेगी निःशुल्क एवं मूलभूत विधिक सेवा की सुविधा। विधिक सहायता केंद्र हर बुधवार एवं शनिवार को प्रातः 10 से सांय 5 बजे तक खुला रहेगा। जिसमें वकील,पैरालीगल वॉलिंटियर ग्रामीणों को मुफ्त में विधिक जानकारी भी देंगे। तीन दिवसीय जनपद भ्रमण पर पहुंचे न्यायमूर्ति ने सोमवार को गंगोत्री धाम में चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण कर जायजा लिया। उसके उपरांत उन्होंने बगोरी गांव पहुंच कर विधिक सहायता केंद्र का रिबन काटकर शुभारंभ किया। इस दौरान सदस्य सचिव आर.के. खुल्बे,मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट मदनराम भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर न्यायमूर्ति ने ग्रामीणों की समस्याएं भी सुनीं और कहा कि विधिक सहायता केंद्र के माध्यम से समाज के गरीब और पिछड़े वर्गों के लिए जहां आसानी से सुलभ कानूनी सहायता प्रदान होगी वहीं ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान स्थानीय स्तर पर ही पीएलबी व स्थानीय प्रशासन के माध्यम से तीव्र गति के साथ होगा। इस दौरान ग्रामीणों द्वारा स्थानीय भेड़ पालकों से वन विभाग द्वारा लिए जाने वाले चुगान कर की धनराशि कम करने का अनुरोध किया गया साथ ही योगराम निवासी बगोरी का आगजनी के कारण भवन जल गया था जिसके मुआवजा भुगतान की मांग की गई। जिस पर न्यायमूर्ति ने सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व एसडीएम भटवाड़ी को समस्या के त्वरित समाधान करने के निर्देश दिए।

कार्यक्रम में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सुश्री दुर्गा शर्मा,एसडीएम भटवाड़ी चतर सिंह चौहान सहित रावल हरीश सेमवाल, ग्राम प्रधान बगोरी सरिता रावत,सेवानिवृत्त आयकर आयुक्त गुमान सिंह नेगी,योगराम, सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर आईटीबीपी चतर सिंह,गोपाल सिंह नेगी,रामप्रसाद आदि ग्रामीण उपस्थित रहे।

You may have missed