उत्तरकाशी : महिला व बाल विकास में आउटसोर्सिंग के तहत संचालित केंद्र हुए बंद, 6 माह से बगैर तनख्वाह मिले घर बैठे कर्मी

  • संतोष साह

महिला व बाल विकास के अंतर्गत आउटसोर्सिंग से संचालित केंद्रों में ताले लग गए हैं। इनमे काम करने वाले लगभग 30 कर्मचारी 6 महीने से तनख्वाह लिये बगैर घर अब घर बैठ गए है। बताया जा रहा है कि महिला व बाल विकास विभाग के निदेशालय स्तर से पिछले वर्षों में कुछ केंद्र संचालित किये गए थे। जिसका ठेका किसी प्राइवेट कंपनी को दिया गया था।

पहले यह खबर आई थी कि कंपनी ब्लैक लिस्टेड कर दी गई है मगर अब यह भी पता चला है कि आउट सोर्सिंग एजेंसी का बांड खत्म हो गया है। गौरतलब है कि इस एजेंसी द्वारा संचालित केंद्रों में लगभग 30 कर्मी रखे गए थे। जिन्हें पिछले 6 माह से वेतन भी नही मिला। इधर संचालित केंद्रों के बंद हो जाने से इन केंद्रों में रखे गए सभी कर्मी अब घर बैठ गए हैं।

आउटसोर्सिंग से संचालित जो केंद्र बंद हुए हैं उनमें वन स्टाप सेंटर,राष्ट्रीय पोषण मिशन, महिला शक्ति केंद्र व प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना शामिल है। इस बीच उक्त सेंटर में कार्य करने वाले कर्मियों द्वारा विधायक को भी उन्हें वेतन दिलाये जाने की मांग की है।

उधर उक्त सेंटर के संचालन बंद होने और इसमें कार्य कर चुके कर्मियों को वेतन न मिलने की जानकारी जब जिला कार्यक्रम अधिकारी से लेनी चाही तो उनका फ़ोन रिचार्ज न होने से आउट गोइंग व इनकमिंग की सुविधा न होने से कनेक्ट न होना बता रहा था जबकि स्पष्ट निर्देश हैं कि अधिकारी अपने फोन को चालू दशा में रखें।

Leave a Reply

You may have missed