आपदा प्रभावित भविष्य के लिये चिंतित,139 परिवार पुर्नवास के इंतजार में

  • संतोष साह

पिथौरागढ़ जिले के धापा गांव के 139 आपदा प्रभावित परिवारों ने अब पुर्नवास के लिये अंतिम संघर्ष करने का मन बना लिया है। शुक्रवार को गांव में चरणबद्ध आंदोलन की रूपरेखा बनाई गई। आपदा से घर व खलिहान खो चुके 52 परिवारों के लिये अभी तक स्थाई निवास के लिये टिन शेड तक न बनाये जाने पर दुख व्यक्त किया गया। गौरतलब है कि इस बार की आपदा में ग्राम पंचायत धापा को जिले में सर्वाधिक नुकसान हुआ था। हालात ये है कि अब इस गांव के लोग आपदा के डर से गांव में नही रहना चाहते हैं। इस गांव ने आपदा के तत्काल बाद सरकार व प्रशासन को जानकारी दे दी थी मगर आज तक इनकी सुध नही ली गई। आपदा के दौरान से 52 परिवारों ने स्कूल,पंचायत घर,सहकारी समिति भवन,आंगनबाड़ी केंद्र आदि स्थानों में शरण ले रखी थी और आज भी इन भवनों में आपदा प्रभावित परिवारों का सामान रखा है। इधर इलाके के जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया की मौजूदगी में आज गांव में ग्राम प्रधान इंद्रा रिलकोटिया की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में अब तक गांव की ओर से प्रशासन को दिए पुर्नवास,टिन शेड बनाने आदि के पत्रों को भी अवगत कराया गया। उधर बैठक में तय किया गया कि गांव के लिये टिन शेड बनाने,पुर्नवास के लिये 20 लाख का पैकेज देने,जमीन उपलब्ध कराने की मांग को लेकर अब संघर्ष करने का ऐलान किया गया। बैठक में वर्तमान प्रधान,पूर्व प्रधान महिमन सिंह,मनीष जोशी,निर्मला जोशी,डोली दानू, अंजू धपवाल,हुकुम सिंह को आंदोलन संचालन के लिये जिम्मेदारी दी गई।

Leave a Reply

You may have missed