उत्तरकाशी : 300 किलोमीटर वह भी नंगे पैरों से चलकर शुरू हुई भराड़सर यात्रा के विशाल भंडारे में जुटे हजारों श्रद्धालु

उत्तरकाशी : 300 किलोमीटर वह भी नंगे पैरों से चलकर शुरू हुई भराड़सर यात्रा के विशाल भंडारे में जुटे हजारों श्रद्धालु

- in states, Uttarakhand, Uttarkashi
105
0
@admin
  • संतोष साह / उत्तरकाशी

7 दिन में 300 किलोमीटर की पद यात्रा वह भी नंगे पांव यह आस्था की शक्ति ही है। मोरी विकास खंड में यह यात्रा पौराणिक औऱ धार्मिक आस्था से जुड़ी है। उत्तरकाशी जिले के सीमांत मोरी ब्लॉक के खेडमी में 7 दिवसीय भराड़सर यात्रा जब पहुंची तो उसकी अगवानी भव्य तरीके से हुई साथ ही विशाल भंडारे का भी आयोजन हुआ।

प्रत्येक सात वर्ष के बाद 7 दिवसीय इस यात्रा का विधान बैरिंग महाराज को लेकर है जिनकी इलाके में बड़ी मान्यता भी है। बैरिंग महाराज की उत्पत्ति को लेकर कहा जाता है कि प्राचीन भराड़सर यात्रा जो हुआ करती थी और आज भी जारी है उसमे पहले कभी बैरिंग महाराज जो कि 7 भाई थे उनके द्वारा भी भराड़सर की यात्रा हुआ करती थी। बैरिंग महाराज 7 भाई थे जिनमें एक भाई खेडमी में ऋषि के रूप में स्थापित है जबकि अन्य भाई भी विभिन्न स्थानों में स्थापित है और आस्था से जुड़े है। इसलिए सभी भाइयों की पूजा भरासर तीर्थ स्थान पर ही होती है। जिसकी यात्रा का विधान इस इलाके में बड़ी आस्था से जुड़ा है। लोग यहाँ तक पहुंचने औऱ उसके बाद लौटने में कम से कम 300 किलोमीटर की पद यात्रा करते हैं।

उधर उक्त यात्रा के खेडमी में पहुंचने के बाद भव्य स्वागत हुआ। इस दौरान विशाल भंडारा हुआ। 7 दिवसीय बैरिंग महाराज भराड़सर पद यात्रा के खेडमी में स्वागत व आयोजन में चंद्र सिंह,सलदार सिंह,जसराम सिंह,विजेंद्र सिंह,गंदर्भ सिंह,केशर सिंह,जगमोहन पंवार,अनिल पंवार,सुरेन्द्र खेडमी देवजानी,दफ्तर सिंह,सुरपाल सिंह,नरेश सिंह,सोबेन्द्र सिंह,पुष्पेंद्र,रचपाल, बाबूराम, लोकेंद्र,राजेन्द्र, बृजमोहन, दीपक,उपेंद्र,मनो डोभाल,राजेश,कैलाश समेत तमाम लोगों की भागीदारी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : डीएम के फरमान का हुआ असर, आयुर्वेदिक के 24 कर्मियों को आपदा प्रभावित मोरी में कैम्प करने के आदेश जारी

संतोषः साह / उत्तरकाशी डीएम उत्तरकाशी के फरमान