VIDEO : लखनऊ : पुलिस की गोली से एप्पल कंपनी के सेल्स मैनेजर की मौत।

VIDEO : लखनऊ : पुलिस की गोली से एप्पल कंपनी के सेल्स मैनेजर की मौत।

- in Lucknow
210
0

नवीन गोयल/लखनऊ

पुलिस कर्चारियों की लापरवाही ने शनिवार तड़के एपल के सेल्स मैनेजर की जान ले ली है। पुलिसकर्मियों के कहने पर मैनेजर ने गाड़ी नहीं रोकी तो सिपाही ने उस पर फायरिंग कर दी। गोली सीधे युवक के सिर में जा लगी, जिससे उसकी मौत हो गई। कार में मौजूद युवक की महिला मित्र की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा उन्हें बर्खास्त भी कर दिया गया है। वहीं, महिला मित्र को पुलिस ने नजरबंद कर दिया है। मृतक की पत्नी ने सीएम को पत्र लिखकर सीबीआई जांच की मांग की है। वहीं, इस मामले में सीएम योगी ने कड़ी नाराजगी जताते हुए डीजीपी ओपी सिंह को कड़ी फटकार लगाई है।

 

उन्होंने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने एनकाउंटर की बात से इन्कार करते हुए कहा है कि जरूरत पड़ी तो मामले की सीबीआई जांच कराएंगे। गोमतीनगर विस्तार में सीएमएस स्कूल के पास शुक्रवार रात करीब ढाई बजे एक कार खड़ी थी। उसी दौरान पुलिस बाइक पर सवार होकर गोमतीनगर थाने में तैनात सिपाही प्रशांत चौधरी और एक अन्य सिपाही वहां पहुंचे। दोनों ने कार में एक युवक और युवती को देखा तो मामला संदिग्ध समझ उनसे पूछताछ के लिए कार के पास पहुंचे। इतने में ही कार चला रहे मैनेजर विवेक तिवारी ने गाड़ी बढ़ा दी।  इस पर भी जब कार नहीं रुकी तो सिपाही प्रशांत चौधरी ने फायरिंग कर दी। गोली सीधे जाकर विवेक के सिर में लगी। कुछ दूरी पर गाड़ी एक डिवाईडर से टकराकर रुक गई।विवेक के साथ कार में बैठी उनकी कंपनी की ही कर्मचारी सना ने बताया कि विवेक के सिर से खून बहता देख उसने मदद के लिए गुहार लगाई। कुछ देर बाद पुलिस टीम मौके पर पहुंची। तत्काल विवेक को लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां कुछ देर बाद उसने दम तोड़ दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आईजी, एसएसपी समेत तमाम आलाधिकारियों ने घटनास्थल का मुआयना किया है। सना की तहरीर पर आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी और संदीप के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं, घटना के करीब आठ घंटे बाद चोटिल हुए दोनों सिपाहियों का मेडिकल परीक्षण लोहिया अस्पताल में कराया गया। इस मामले में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि आरोपी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की जा रही है।

पत्नी ने सीएम से मांगा न्याय
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि विवेक के शव का पोस्टमार्टम कराया गया, जिसमें गोली लगने से मौत की पुष्टि हुई है। उन्होंने कहा कि आरोपी सिपाहियों के खिलाफ 302 के तहत बत्या का  केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले की जांच के लिए एसपी क्राइम के नेतृत्व में स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम का गठन किया गया है। गोमतीनगर थाने को जांच न सौंपकर मामले की विवेचना महानगर एसएचओ को सौंपी गई है। इसके अलावा जिलाधिकारी को पत्र लिखकर मामले की मजिस्ट्रेटी जांच की मांग की गई है। एपल के सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने कहा है कि गोली मारकर हत्या करने के बाद लखनऊ पुलिस पति को चरित्रहीन साबित करने में लगी है। कल्पना ने सवाल उठाया कि गाड़ी न रोकने पर गोली चलाने का अधिकार पुलिस को किसने दिया। उन्होंने अब योगी सरकार ने न्याय की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : आपदा प्रभावित इलाके में चॉपर की इमरजेंसी लैंडिंग तारों के अवरोधक बनने के कारण हुई,आर्यन कंपनी के दोनों पायलट शुशांत व अजीत सुरक्षित

  संतोष साह / उत्तरकाशी मोरी के आपदा