उत्तरकाशी: अलग-थलग पड़े नेताओं की थर्ड फ्रंट खड़े करने की कसरत शुरू

उत्तरकाशी: अलग-थलग पड़े नेताओं की थर्ड फ्रंट खड़े करने की कसरत शुरू

- in Uttarkashi
40
0

पॉलिटिकल एक्सक्लूसिव,,,,,,,,,

 

संतोष साह/ उत्तरकाशी

उत्तरकाशी। थर्ड मोर्चा बनाए जाने को लेकर इन दिनों प्रदेश के कुछ नेताओं की गुफ़्तुगू चल रही है। प्रदेश की राजधानी मे दो दिन पूर्व इन नेताओं की एक जुट होकर थर्ड फ्रंट बनाने को लेकर गुप्त मुलाकात भी हुई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आगामी 14 अक्टूबर को इनकी एक बैठक भी प्रस्तावित है। थर्ड फ्रंट बनाने ओर तीसरे विकल्प को खड़ा करने के लिए जो नेतागण एकजुट होने की कवायद कर रहे है उनमें कुछ पूर्व विधायक, पूर्व मंत्री,पूर्व दर्जाधारी मंत्री समेत विधायकी का चुनाव हार चुके तथा भाजपा और कांग्रेस के बागी नेता व कार्यकर्ता भी शामिल हैं। बताया जा रहा है कि 2019 के लोक सभा चुनाव व प्रदेश मे निकाय चुनाव से पहले थर्ड मोर्चा अस्तित्व मे आ जाए इसको लेकर अलग-थलग पड़े नेताओं मे अपना एक अलग मोर्चा थर्ड फ्रंट बनाने के लिए एक साथ बैठकर मंथन चल रहा है। दो दिन पूर्व राजधानी मे इन नेताओं का आपसी मंथन चला और पता चला है कि 14 अक्टूबर को इनकी एक बैठक भी इस सिलसिले मे बुलायी गई है। दो दिन पूर्व हुई चर्चा मे कुछ अन्य संगठनों के लोग भी शामिल हुए थे। थर्ड फ्रंट को लेकर हुई चर्चा मे अंदर से छनकर जो खबर आयी है उस चर्चा मे प्रमुख रूप से पूर्व कैबिनेट मंत्री दिनेश धने, पूर्व विधायक ओम गोपाल,पूर्व विधायक सुरेश चंद्र जैन,पूर्व दर्जाधारी संदीप गुप्ता,आर्येन्द्र शर्मा, कवींद्र इस्तवाल, प्रमोद नैनवाल,महेंद्र नेगी,गोविंद अग्रवाल,ज्योति सजवाण,भारतीय अंत्योदय पार्टी के बलबीर तलवार,आर,सी,उपाध्याय समेत कई अन्य शामिल थे। गौरतलब है कि उत्तरकाशी से भी इस थर्ड मोर्चे की कवायद मे भागीदारी रही औऱ भाजपा के बागी व पूर्व उपाध्यक्ष चार धाम सूरत राम नौटियाल भी इस चर्चा मे शामिल हुए बताये जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बिना पंजीयन कराए चल रहे ई रिक्शा पर होगी कार्यवाही- विश्वजीत प्रताप सिंह

शासन द्वारा पंजीयन कराने के बाद ही सड़कों