उत्तरकाशी क्योटो शहर बनेगा उत्तरकाशी, अगर सब मिल कर सफाई करें डी एम।

उत्तरकाशी क्योटो शहर बनेगा उत्तरकाशी, अगर सब मिल कर सफाई करें डी एम।

- in Uttarkashi
74
0

वीरेंद्र सिंह /सनसनी सुराग

जिलाधिकारी आषीश चौहान ने जनपद वासियों को गंगा दशहरा की शुभकामनाएं देते हुए जनपद में सफाई अभियान को लेकर किए गए कार्यो की उपलब्धियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गंगा की सफाई के लिए गंगोत्री में बृहद स्वच्छता अभियान चलाया गया। जिसमें करीब पन्द्रह से बीस ट्रक कूड़ा एकत्रित कर निस्तारण हेतु उत्तरकाषी लाया गया। लोगों के अन्दर सफाई के प्रति जागरूकता लाने के लिए प्लोगिंग कार्यक्रम का षुभांरभ किया। जोकिंग करते हुए कोई भी व्यक्ति रास्ते में पड़ा कूड़े को उठाकर कूड़ेदान में डालना इसका मुख्य उद्देष्य रहा। अधिकारी एवं कर्मचारियों में बदलाव देखने को मिला हालांकि उन्होंने स्थानीय लोगों से भी अपील की है कि जहां भी कूड़ा दिखे उसे इक्ट्ठा कर कूड़ेधान में डालें। उन्होंने कहा कि जब तक जनता की सहभागिता नहीं होगी तब तक स्वच्छता नहीं होगी। गंगोत्री में कूड़े निस्तारण के लिए बड़े-बड़े कूड़ेदान लगाएं गए है और नगर पालिका के वाहन से कूड़े को निचे लाया जा रहा है। गंगोत्री में बड़े कूड़ेदान लगाएं गए है।नगर पंचायत को नए वाहन मिलने से कूड़े निस्तारण में आसानी हो रही है। तेखला डंपिंग जोन में कूड़ा निस्तारण के लिए नगर पालिका की ओर से दिवार निर्माण एवं भूमि को समतल करने का कार्य किया गया है। जिससे डंपिंग जोन में पड़ने वाला कूड़ा बरसात में गंगा नदी में न गिर सके। उन्होंने कहा कि तेखला डंपिंग जोन के विकल्प को लेकर भूमि का चयन किया गया है। जहां वैज्ञानिक तकनीक से कूड़े का निस्तारण किया जाएगा।

प्रदेष संयोजक गंगा विचार मंच लोकेन्द्र बिश्ट ने कहा कि प्रत्येक नागरिक को गंगा की अवरिल एवं निर्मल धारा को अक्षुण बनाए रखने की नैतिक जिम्मेदारी हैं। उन्होंने कहा कि 33 करोड़ देवी-देवताओं का नाम सुना या फोटो में देखा होगा लेकिन जीवनदायनि गंगा मैया ही ऐसी देवी है जिन्हें हम प्रत्यक्ष रूप से देख सकते है। उन्होंने कहा कि विदेषी पर्यटक यहां आकर गंगा के किनारे बैठकर योगासन कर रहें है, गंगा जी की मधूर ध्वनी की वीडियो रिकार्ड कर विदेषों में उसी वीडियों को देखकर योगासन और प्रार्थना कर रहें है। यहां के नागरिकों को भी जीवनदायनी गंगा मैया के प्रति अनुकूलता के साथ सोचना होगा। उन्होंने कहा कि कूड़े निस्तारण के लिए स्थाई व्यवस्था एवं स्वच्छता के प्रति लोगों के अन्दर जागरूता पैदा करने की जरूरत है। गंगा की अवरिल धारा को अक्षुण बनाए रखने के लिए गंगा नदी में गिर रहें,नदी, नालों की भी सफाई करने की जरूरत है। कहा कि रूड़ीवादी विचार धारा को भी बदलने की आवष्यकता है। इस अवसर पर सिंचाई विभाग, गंगा प्रदूशण इकाई बोर्ड, स्वजल आदि विभाग ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से नमामि गंगे परियोजना के तहत कराए जा रहे कार्यो की प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी गई।

इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र नेगी, अधिषासी अभियंता वीसी डोगरा, जिला कार्यक्रम अधिकारी मोहित चौधरी, सहायक निदेषक मत्स्य प्रमोद षुक्ला, परियोजना अधिकारी डीडी रतूड़ी, सहायक समाज कल्याण अधिकारी गोपाल राणा सहित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मुज़फ्फरनगर: ढांग में दबने से दो की मौत

नवीन गोयल/मुज़फ्फरनगर मुजफ्फरनगर में कुए की मिट्टी गिरने