उत्तर प्रदेश पुलिस में कमिश्नर प्रणाली, नोएडा और लखनऊ में शुभारंभ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में हुई बैठक में लगी मुहर

उत्तर प्रदेश पुलिस में कमिश्नर प्रणाली, नोएडा और लखनऊ में शुभारंभ, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में हुई बैठक में लगी मुहर

- in Other Updates
56
0

डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा

 

नोएडा और लखनऊ में लागू हुई कमिश्नर प्रणाली

उत्तर प्रदेश पुलिस में कमिश्नर प्रणाली
________________________________
लखनऊ और नोएडा में सबसे पहले पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू कर दी गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में हुई बैठक में इस पर मुहर भी लग गई है। बैठक में मुंबई व गुरुग्राम में लागू पुलिस कमिश्नर प्रणाली के मॉडल पर चर्चा की गई, जिसके बाद इस प्रणाली को लागू करने पर सहमति बनी। कमिश्नर प्रणाली क्या होती है? इससे कानून व्यवस्था में किस तरह के बदलाव आएंगे और किस स्तर के अधिकारी को इन दोनों जिलों में कमिश्नर बनाया जाएगा..

क्या है कमिश्नर प्रणाली

आजादी से पहले अंग्रेजों के दौर में कमिश्नर प्रणाली लागू थी जो आजादी के बाद हमारी पुलिस ने अपनाया। इस वक्त यह व्यवस्था 100 से अधिक महानगरों में सफलतापूर्वक लागू है।

भारतीय पुलिस अधिनियम, 1861 के भाग 4 के तहत जिला अधिकारी के पास पुलिस पर नियंत्रण करने के कुछ अधिकार होते हैं। इसके अलावा, दण्ड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी), एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट को कानून और व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए कुछ शक्तियां देता है।

अगर हम इसे सामान्य भाषा में समझें तो पुलिस अधिकारी कोई भी फैसला लेने के लिए स्वतंत्र नहीं हैं, वे आकस्मिक परिस्थितियों में डीएम या मंडल कमिश्नर या फिर शासन के आदेश अनुसार ही कार्य करते हैं। लेकिन पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होने पर जिला अधिकारी और एक्जीक्यूटिव मजिस्ट्रेट के ये अधिकार पुलिस अधिकारियों को मिल जाते हैं।

कई सालों से IPS अफ़सर इसकी माँग कर रहे थे. सबसे पहले मायावती की सरकार में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने पर प्रस्ताव बना था

 

उत्तर प्रदेश पुलिस की दृष्टि से आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण-CM

हमारी सरकार ने बेहतर पुलिसिंग के लिए बढ़िया कदम उठाया है-CM

एक मांग उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था के लिए की जा रही थी उसको पूरा किया गया है-CM

लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू कर दी गई है-CM

पुलिस सुधार के लिए यह जरूरी था विशेषज्ञों ने इसके सुझाव दिए थे-CM

न्यायपालिका हमेशा सरकारों को कटघरे में खड़ा करती थी न्याय में देर नहीं होगी-CM

10 लाख से अधिक आबादी वाले क्षेत्रों के पुलिस आयुक्त प्रणाली लागू होनी चाहिए-CM

प्रदेश की बेहतर कानून व्यवस्था की दृष्टि से इस प्रणाली को लागू किया गया है-CM

इच्छाशक्ति की कमी के चलते पिछली सरकार ने लागू नहीं कर सकी-CM

लखनऊ में 40 लाख और नोएडा में 16 लाख की आबादी निवास करती है-CM

25 लाख की आबादी नोएडा ग्रेटर नोएडा निवास करती है-CM

आयुक्त प्रणाली मेट्रोपॉलिटन सिटी में लागू होगी-CM

40 थानों में लागू होगी पुलिस कमिश्नर प्रणाली

 

*एडीजी स्तर का अधिकारी पुलिस कमिश्नर होगा-सीएम योगी*

दो जॉइंट पुलिस कमिश्नर साथ में तैनात होंगे-सीएम योगी

हमने बताया था कि एडीजी स्तर का अधिकारी होगा नोएडा का पुलिस कमिश्नर।

एक लॉयन ऑर्डर और एक क्राइम देखेगा-सीएम योगी

मेट्रोपॉलिटंस सिटी में 9 अन्य पुलिस अफसर तैनात होंगे-सीएम योगी

महिला एसपी रैंक के अधिकारी महिला सुरक्षा के लिए तैनात होगी-सीएम योगी

*यूपी में आज से पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू, इससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु*

• सीएम योगी ने रचा इतिहास, यूपी में पहली बार पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू
• पुलिस महकमे के लिए उम्मीद से ज्यादा देने वाला फैसला
• सीएम योगी ने यूपी की आम जनता के हित में लिया ऐतिहासिक फैसला
• आम आदमी के लिए त्वरित न्याय, आम लोगों के दरवाजे पर ही होगा मुहैया
• लगातार बेहतर हो रही कानून व्यवस्था को और और बेहतर करने में योगी सरकार का बहुत बड़ा फैसला
• पिछले कई दशकों से यूपी में उठ रही थी पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की मांग
• धरमवीर कमीशन (तीसरे राष्ट्रीय पुलिस आयोग) ने 1977 भी की थी पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने की सिफारिश
• नौकरशाही के एक बड़े तबके और राजनीतिक आकाओं ने सालों से दबा रखी थी कमिश्नर सिस्टम की फाइल
• राजनीतिक इच्छाशक्ति के अभाव में यूपी में कभी नहीं लागू हो पाया कमिश्नर सिस्टम
• पूर्व में कोई भी मुख्यमंत्री नहीं कर पाए पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने का साहस
• सरकारें पुलिस को फ्री हैंड देने से डरती रहीं
• सीएम योगी ने दिखाई पालिटिकल विल यानी दृढ राजनीतिक इच्छाशक्ति
• राजनीतिक संरक्षण में अपराधियों, माफिय़ाओं व अपराध को बढावा देने वालों के दिन लदे
• नौकरशाही का एक बड़ा तबका भी करता रहा इस सिस्टम का विरोध
• सीएम योगी ने किया हर विरोध को दरकिनार और लागू किया त्वरित, पारदर्शी और जनहित के फैसले लेने वाला कमिश्नर सिस्टम
• पुलिस को पर्याप्त अधिकार के साथ पर्याप्त जवाबदेही वाला कानून लागू
• अब दंगाइयों, उपद्रवियों के बुरे दिन, बल प्रयोग के लिए पुलिस को नहीं करना पड़ेगा मजिस्ट्रेट का इंतजार
• अब जो दंगा करेगा, उपद्रव करेगा, आमजन और पुलिस पर हमला करेगा, सार्वजनिक संपत्तियों को बर्बाद करेगा, उससे सीधे निपटेगी पुलिस
• पुलिस में भी लागू हो गया सिंगल विंडो सिस्टम
• अब गुडों, माफियाओं, सफेदपोशों के खिलाफ त्वरित कार्रवाई के लिए पुलिस को नहीं भटकना पड़ेगा मजिस्ट्रेटों के कार्यालयों में
• पुलिस को खुद होगा गुंडों, माफियाओं और सफेदपोशों को चिन्हित कर उनके खिलाफ त्वरित कार्रवाई का पूरा अधिकार
• अपराधियों, माफियाओं और सफेदपोशों के असलहों के लाइसेंस कैंसिल करने के लिए भी पुलिस के पास हुए सीधे अधिकार
• 151 और 107, 116 जैसी धाराओं में पुलिस को गिरफ्तार कर सीधे जेल भेजने का होगा अधिकार
• आमजन के हित के फैसलों में नौकरशाही का मकड़जाल खत्म
• तीसरे पुलिस कमीशन, धरमवीर कमीशन की सिफारिश के बाद पूर्व सीएम श्री राम नरेश यादव जी ने यूपी में कमिश्नर सिस्टम लागू किया था
• वासुदेव पंजानी को बनाया था कानपुर का पुलिस कमिश्नर, लेकिन उनके काम शुरू करने से पहले ही वापस ले लिया गया कमिश्नर सिस्टम का फैसला
• इसके बाद यूपी में कभी लागू नहीं हो पाया कमिश्नर सिस्टम
• इसी के बाद प्रदेश की नौकरशाही ने मान लिया था कि यूपी में कोई भी सरकार नहीं ले पाएगी ये क्रांतिकारी फैसला
• पर सीएम योगी ने तोड़ा मिथक
• देश के 15 राज्यों के 71 शहरों जिनमें दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बंगलुरू, अहमदाबाद, राजकोट, बड़ौदा, हैदराबाद, त्रिवेंद्रम आदि शामिल हैं, वहां ये सिस्टम लागू है और बेहतर कार्य कर रहा है
• प्रशासनिक उत्कृष्टता के लिए ये कदम जरूरी था और योगी ने इस कर दिखाया
• कमिश्नर सिस्टम से बढेगी पुलिस की जवाबदेही, थाने स्तर पर आम लोगों की सुनवाई और बेहतर होगी, पुलिस की गड़बड़ी पर होगा अंकुश

 

सुजीत पांडेय लखनऊ और आलोक सिंह नोएडा के पहले कमिश्नर होंगे

लखनऊ- पूर्व में लखनऊ के आईजी रेंज लखनऊ रहे सुजीत पांडेय को बनाया गया राजधानी के लखनऊ कमिश्नर

मूल से भागलपुर बिहार के रहने वाले है सुजीत पांडेय

1994 बैच के आईपीएस अधिकारी है सुजीत पांडेय

सुजीत पांडेय 7 साल सीबीआई में सेवा दे चुके हैं

सुजीत पांडेय ने 26 /11 बॉम्बे बम ब्लास्ट में नदंडी ग्राम समेत अन्य जगह की कमान संभाली है

यूपी में 12 से अधिक जिलों की कमान संभाल चुके है सुजीत पांडेय

सुजीत पांडेय एसटीएफ का चार्ज भी संभाल चुके हैं,वर्तमान मे एडीजी प्रयागराज के पद पर तैनात हैं सुजीत पाण्डेय…

 

 

नवनियुक्त लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडेय ने नई जिम्मेदारी मिलने के बाद बोले:-जितना मुझ पर विश्वास किया गया, मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगा उतना निभा पाऊ, बहुत ईमानदारी के साथ।

 

उत्तर प्रदेश में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होने पर पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

1857 के विद्रोह का अंतिम शहीद —-वीर सुरेंद्र साय : वीर सुरेंद्र साय की जयंती पर विशेष लेख ——

लेखक —– अनुराग गुप्ता भारत माता को गुलामी