उत्तरकाशी : नगर के शौचालयों में सडांध,खुले में शौच बनी मजबूरी, यात्री भी मुँह ढकने को मजबूर

उत्तरकाशी : नगर के शौचालयों में सडांध,खुले में शौच बनी मजबूरी, यात्री भी मुँह ढकने को मजबूर

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi, Uttarkashi
607
0
@admin
  • संतोष साह / उत्तरकाशी

उत्तरकाशी नगर में जितने भी शौचालय चाहे वे पक्के,टूटे-फूटे या फिर यात्रा को देखते हुए टेंटनुमा बने हों सभी मे सडांध आ रही है। बदबू के मारे इनमे घुसना मुश्किल हो रहा है। स्थानीय तो खुले में कहीं न कहीं जाकर शौच,मूत्र आदि से बरी हो जा रहा है लेकिन देश विदेश के यात्रियों को इनमे मुंह ढक कर जाने को मजबूर होना पड़ रहा है।

चार धाम यात्रा के दौरान गंगोत्री धाम के प्रवेशद्वार में स्वच्छता के प्रति इस तरह की घोर लापरवाही व अनदेखी से यात्रियो को क्या संदेश मिल रहा होगा। स्वाभाविक है कि वह व्यवस्था के नाम पर कड़वे अनुभव महसूस कर रहा होगा। नगर के मणिकर्णिका घाट में अभी हाल में नमामि गंगे से नया शौचालय बना। बनने के बाद प्रयोग हुआ वह भी गंदा भर होने तक। अब ये हाल है कि एक माह पहले बने इस शौचालय में बगैर स्वच्छता इंतजाम किये सडांध आने लगी है।

बस अड्डे में टैक्सी स्टैंड के सामने बने शौचालय बुरी स्थिति में हैं। इसके अलावा लगभग हर शौचालय के कमोवेश यही हाल है। नगर पालिका के ईओ को कई बार आला अफसरों व जनप्रतिनिधियों ने व्यवस्था को लेकर समझा दिया है लेकिन व्यवस्था ठीक होने का नाम नहीं लेती। दरअसल व्यवस्था में ईओ की गलती इसलिए नहीं कि उसकी कोई पालिका में सुनता ही नहीं। अलबत्ता जब ईओ को उसके अधीनस्थ अपना साहब व उसके आदेश ही नही मानते तो व्यवस्था कैसे दुरुस्त होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : मोरी आपदा ! मुख्यमंत्री ने लिया हालात का जायजा,मृतकों को 4 लाख,घायलों जा होगा निःशुल्क इलाज

संतोष साह / उत्तरकाशी प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र