टिहरी : होम स्टे योजना के इच्छुक अभ्यर्थियों के आवेदनों को दें प्राथमिकता : DM

टिहरी : होम स्टे योजना के इच्छुक अभ्यर्थियों के आवेदनों को दें प्राथमिकता : DM

- in Uttarakhand
101
0

 

टिहरी / सनसनी सुराग/ ब्यूरो
पं0 दीन दयाल उपाध्याय होम स्टे विकास योजना के तहत जनपद के इच्छुक अभ्यर्थियों के मार्गदर्शन हेतु जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में गोष्ठी का आयोजन किया गया।

उन्होने लीड बैंक अधिकारी को होम स्टे योजना के इच्छुक अभ्यर्थियों के आवेदन को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने बताया कि इस पारदर्शी योजना का उद्ेश्य पर्यटन को बढावा देने के साथ ही साथ लोगो को स्थानीय स्तर पर स्वरोजगार दिलाकार आमदनी को बढाना तथा पलायन को रोकना है।

बुधवार को जिला कार्यालय सभागार में पं0 दीनदयाल उपाध्याय होम स्टे योजना के तहत इच्छुक अभ्यर्थियों के मार्गदर्शन हेतु आयोजित गोष्ठी में जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद पर्यटक गतिविधियों के लिए अनुकुल है तथा पर्यटकों को आकृषित करने के लिए पारम्परिक/पहाड़ी षैली में निर्मित आवासों को बढावा दिये जाने की आवश्यकता है इस हेतु सरकार द्वारा संचालित योजना के में अनुदान की व्यवस्था भी की गई है जिसके तहत लागत के 25 प्रतिषत या 7.50 लाख रु0 इनमें से जो भी कम हो मूल सब्सिडी के रुप मंे तथा प्रथम  पाॅच वर्शो में ऋण के सापेक्ष देय ब्याज का 50 प्रतिषत अधिकतम 1 लाख रु0 प्रतिवर्ष की दर से देय होगी वहीं पर्वतीय क्षेत्रों के लाभार्थियों हेतु पूंजी के लागत के 33 प्रतिषत या 10 लाख रु0 जो भी कम हो मूल सब्सिडी के रुप में एवं प्रथम पॅाच वर्शो में ऋण के सापेक्ष देय ब्याज का 50 प्रतिषत अधिकतम 1.50 लाख रु0 प्रतिवर्ष की दर से देय होगी।

उन्होने कहा कि पहाडी शैली में निर्मित सुविधायुक्त होम स्टे आवासों में लागत से ज्यादा प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है जिस हेतु सोशल मीडिया का उपयोग लाभकारी सिद्व हो सकता है। जिलाधिकारी ने लीड बैंक अधिकारी को निर्देश दिये कि होम स्टे योजना के तहत बैंको को प्राप्त होने वाले आवेदनों पर प्राथमिकता के आधार पर कार्यवाही हो साथ ही आवेदनकर्ता किसी भी प्रकार की समस्या के समाधान हेतु जिला पर्यटन अधिकारी से सम्पर्क स्थापित करें।

इस अवसर पर गोष्ठी में उपस्थित आवेदनकर्ताओं ने होम स्टे योजना की बारिकायों को समझने हेतु कार्यशाला का आयोजन की बात भी जिलाधिकारी के सम्मुख रखी जिसपर जिलाधिकारी ने कार्यशाला के आयोजन हेतु जिला पर्यटन अधिकारी को निर्देश दिये।

इस अवसर पर महाप्रबंधक उद्योग महेश प्रकाश, जिला पर्यटन अधिकारी एसएस यादव, साहसिक खेल अधिकारी सोबत सिंह राणा, उपमहाप्रबंधक नाबार्ड कृष्णा सिंह, लीड बैंक अधिकारी देवेन्द्र गोस्वामी के अलवा विभिन्न विकासखण्डों के इस योजना के तहत आवेदनकर्ता व इच्छुक अभ्यर्थी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

तीन साल की बच्ची के साथ छेड़खानी, दो पक्षों में टकराव, हुई पत्थरबाजी।

नवीन गोयल मुज़फ्फरनगर जनपद मुजफ्फरनगर में एक गांव