उत्तरकाशी : स्थानीय मुददे गायब,चुनावी चर्चा है तो सिर्फ देश की राजनीति की

उत्तरकाशी : स्थानीय मुददे गायब,चुनावी चर्चा है तो सिर्फ देश की राजनीति की

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi, Uttarkashi
149
0
@admin
  • संतोष साह / उत्तरकाशी

इस बार चुनाव में स्थानीय मुद्दे गायब हैं। चुनावी चर्चा ग्रामीण चौपालों से लेकर होटल,ढ़ाबों, चौराहों में यदि है भी तो देश की राजनीति को लेकर हो रही है। रुझान क्या है इस पर देश के लिये वोट करने की बात मतदाता कह रहा है।अधिकांश मतदाताओं में सरकार ने पिछले 5 साल में क्या किया औऱ क्या कुछ उसकी उपलब्धि रही इस पर बगैर कुछ बोले ही देश का चुनाव होने की बात की जा रही है। कुछ मतदाता ही ऐसे हैं जो किसी खास मुद्दे पर ही बहस या फिर नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। पहाड़ के अधिकांश मतदाता मोदी की एनडीए सरकार द्वारा किये गए कार्यो औऱ देश हित मे उठाए गए कदमों को बेहतर बता रहे हैं। ग्रामीण चौपालों मे भी चुनाव की चर्चा हो रही है। ग्रामीण चौपालों में भी स्थानीय मुद्दे कम देश की राजनीति की बात हो रही है। पहाड़ में राष्ट्रवाद का मुद्दा भी किसी न किसी रूप में बहस में हावी है। प्रधानमंत्री के तौर पर मोदी बहस में भारी हैं। मतदाताओं के रुझान में प्रधानमंत्री के तौर पर पहली पसंद नरेंद्र मोदी ही हैं जबकि अन्य प्रधानमंत्री के दावेदर्रों का प्रतिशत एक तरह से बहुत कम है।
टिहरी लोकसभा सीट में जनता के मिले रुझानों में मुकाबला सीधे भाजपा औऱ कांग्रेस के बीच होना तय माना जा रहा है। भाजपा स्टार प्रचारकों से जहां मतदाताओं तक पहुंचने के अलावा चुनावी प्रचार में आगे चल रही है तो वहीं पहाड़ के लिये कांग्रेस के पास स्टार प्रचारकों का ही टोटा पड़ा है। कांग्रेस व उसके प्रत्याशी पूरे संसदीय इलाक़े में जाकर अपने बूते ही जनता से वोट की अपील कर रहे हैं। भाजपा को चुनाव प्रचार में ज्यादा मेहनत इसलिए नही करनी पड़ रही है कि उन्हें चुनाव जिताने के लिए संसदीय इलाके के विधायकों को जिम्मेदारी दी गई है तो स्टार प्रचारक भी संसदीय इलाके में पहुंच रहे हैं। ऐसे में भाजपा प्रत्याशी की चुनाव प्रचार की राह एक तरह से आसान हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रजापति समाज ने धूमधाम से निकाली शोभायात्रा

मौ० रविश / मेरठ/लावड़ मंगलवार को क़स्बे में