शारीरिक,मानसिक आध्यात्मिक स्वास्थ्य में प्राणायाम की चेतनात्मक भूमिका।

शारीरिक,मानसिक आध्यात्मिक स्वास्थ्य में प्राणायाम की चेतनात्मक भूमिका।

- in Other Updates
477
0

डॉ रणवीर सिंह वर्मा
चीफ ब्यूरो सनसनी सुराग न्यूज
जनपद शामली।
आरोग्य भारती शामली व जीवन शिक्षा ट्रस्ट मुजफ्फरनगर के संयुक्त तत्वावधान में चल रहे प्रातः व सायं कालीन योग आयुर्वेद व आध्यात्मिक शिविरों का आज समापन हुआ।
इस शिविर में आरोग्य भारती के प्रान्तीय सचिव इंo राम औतार तायल बी. ई. सिविल, एम. ए. योग द्वारा विभिन्न प्राणायाम जैसे भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी ,उदगीथ, उज्जायी आदि प्राणायाम क्यों करें,कब करें , कैसे करें, विस्तार से समझाया गया व अभ्यास कराया गया ।
‌ तनाव मुक्ति हेतु IRT , QRT, DRT के द्वारा Cyclic meditation(आवर्तन ध्यान) भी कराया गया । तथा विभिन्न रोगों के निदान में सहायक योगासन जैसे वक्रासन, अर्धमतस्येंद्रासन, अग्निसार क्रिया त्रिबन्ध, मण्डूकासन, मर्कटासन, मकरासन आदि को भी विस्तार से समझाया गया व अभ्यास कराया गया।
‌ रहन-सहन, खान-पान में ध्यान देने योग्य बातों पर विस्तार से चर्चा की गयी ।
कार्यक्रम में लगभग 15 पुरुषों व 35 महिलाओं ने भाग लिया।
कार्यक्रम को सफल बनाने में
संजय आहूजा संस्थापक
पूजा आहूजा सचिव
जीवन शिक्षा (ट्रस्ट), डॉ अमित कुमार,
रमेश साईं जी समाजसेवक
राधे श्याम अरोरा समाज सेवक, सचिन गुप्ता प्रबंधक RSD PUBLIC High School Muzaffar Nagarआदि का विशेष सहयोग रहा।
आरोग्य भारती मुजफ्फरनगर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

वो हस पड़ा मेरा किस्सा तमाम होने पर, में रो पड़ा था जिसे दास्तां सुनाते हुए।

मेरठ/लावड़ मौ० रविश लावड़। क़स्बे के मोहल्ला मोमिन