शामली: चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ।

शामली: चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ।

- in Politics
41
0

नवीन गोयल/सनसनी सुराग

शामली में चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार में दहशत का माहौल था। लोगों को पलायन के लिए मजबूर किया गया। सपा को निशाना बनाते हुए कहा कि पिछली सरकार सही काम करती तो बाबू हुकुम सिंह को पलायन का मुद्दा उठाकर प्रदर्शन नहीं करना पड़ता। योगी ने कहा कि सपा सरकार में योग्यता के आधार पर भी भर्ती नहीं की गई।

सीएम योगी ने कहा हमारी सरकार में पुलिस भर्ती निकाली गई। सीएम योगी ने विपक्षी सरकार पर आरोप लगाया कि उन्होंने यूपी में भेदभाव के साथ किया। योगी इतने पर ही नहीं रूके उन्होंने कहा कि विपक्ष ने दंगा कराने के लिए कई हथकंडे भी अपनाएं। पिछली सरकार में संगीत सोम व संजीव बालियान जैसे भाजपा नेताओं को साजिश के तहत जेल भेजने की कोशिश की गई। योगी ने कहा कि हम जिन्ना की तस्वीर भी नहीं लगने देंगे। योगी ने कहा कि पिछली सरकार में कैराना में अराजकता फैलाई गई। अब अपहरणकर्ता और दबंगई करने वाले घुटने टेक रहे हैं। कानून के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे। साथ कहा कि प्रदेश सरकार तीन लाख युवाओं को रोजगार देगी। सीएम योगी ने ये बातें शामली के आरके डिग्री कॉलेज में कही।

गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में करारी हार के बाद भाजपा किसी भी कीमत पर कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट गंवाना नहीं चाहती है। इसके लिए बीजेपी के राजनीतिज्ञों ने पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं कैराना लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह के लिए सीएम योगी और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बृहस्पतिवार को चुनावी सभा की।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे से विपक्ष परेशान नजर आ रहा है। विपक्ष इसलिए भी परेशान है क्योंकि गठबंधन भी अगर उपचुनाव में भाजपा को नहीं रोक पाया तो 2019 का लोकसभा चुनाव जीतना उनके लिए मुश्किल हो जाएगा। इसलिए विपक्ष ने भी पूरी ताकत झोंक दी है।

सीएम योगी

बता दें कि सीएम और डिप्टी सीएम आज शामली के आरके डिग्री कॉलेज और बिजनौर के नूरपुर में अलग- अलग दो चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे। इस दौरान सीएम और डिप्टी सीएम चुनावी समीकरण को साधने की पूरी कोशिश करेंगे। हालांकि सीएम योगी ने मंगलवार को सहारनपुर के अंबहेटा में भी एक सभा को संबोधित किया था। जिसमें उन्होंने समाजवादी पार्टी पर जमकर निशाना साधा था। साथ ही सपा अध्यक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा था कि अखिलेश के हाथ मुजफ्फरनगर दंगों में मारे गए बूकसूरों के खून से सने हुए हैं। इसलिए वह कैराना में प्रचार करने का दम नहीं रखते हैं।

बताना जरूरी होगा कि शामली में लोकसभा सीट और नूरपुर में विधानसभा सीट पर चुनाव 28 मई को होगा। जबकि मतगणना के लिए 31 मई की तारीख तय की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मुज़फ्फरनगर: ढांग में दबने से दो की मौत

नवीन गोयल/मुज़फ्फरनगर मुजफ्फरनगर में कुए की मिट्टी गिरने