उत्तरकाशी : गंगोत्री, यमुनोत्री की सड़कों की डगर कठिन, मगर मौसम सुकून दे रहा है

उत्तरकाशी : गंगोत्री, यमुनोत्री की सड़कों की डगर कठिन, मगर मौसम सुकून दे रहा है

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi
123
0
@admin
  • संतोष साह / उत्तरकाशी

गंगोत्री,यमुनोत्री धाम सड़कें यात्रियों को कड़वे अनुभव महसूस करा रही हैं। यात्रियों की माने तो सड़कों की कठिन डगर में मौसम जरूर सुकून दे रहा है। मैदानों की चिलमिलाती धूप व लू के थपेड़ों से कहीं दूर यात्रा पर आये यात्री मई में पहाड़ के मौसम और उसमें ठंड को लेकर इसे सड़कों की थकान मिटाने औऱ गर्मी में भी सर्दी का अहसास होने की बात जरूर कर रहे हैं। उत्तरकाशी गंगोत्री धाम का प्रमुख पड़ाव है। यहां रामलीला मैदान यात्रा का पार्किंग स्थल है। पार्किंग से पता चलता है कि एक हफ्ते में ही यात्रा परवान चढ़ने लगी है। आंकड़े एक हफ्ते में गंगोत्री व यमुनोत्री में एक लाख से ऊपर यात्रियों के पहुंचने के हैं। रामलीला मैदान की पार्किंग में देश के विभिन्न हिस्सों से चार धाम की यात्रा पर आए यात्रियों से रूबरू हुए तो हर यात्री व्यवस्थाओं के आलम में सडकों की डगर कठिन बता रहा था तो मौसम को सुकूनभरा। हरिद्वार, ऋषिकेश से उत्तरकाशी तक पहुंच चुके यात्री जिन्हें गंगोत्री जाना था उनका सवाल था कि अब आगे सडक की डगर कैसी है? इससे साफ है कि मैदान से शुरू होकर तीर्थ धाम तक सड़क की स्थिति यात्री को जरूर कड़वे अनुभव महसूस करा रही है। राजस्थान के सीकर से आये यात्रियों के एक दल ने गंगोत्री से लौटने के बाद बताया कि सड़के ठीक नहीं है। बुजुर्गों के लिए तो कहीं अधिक थका देने व हड्डी-पसलियों को एक कर देने वाली सड़को की स्थिति है। मध्य प्रदेश के रतलाम से आये यात्री राकेश सिंह उनकी धर्म पत्नी बिंदिया,दिनेश ठाकुर औऱ उनकी पत्नी प्रमिला ने भी चार धाम यात्रा में सबसे बड़ी तकलीफ सडक को ही बताया। महाराष्ट्र के नासिक से पहुंचे बुजुर्ग नंद राम,भुजा केवन,रामदुलार चौहाण, सावित्री ने सड़को के खतरनाक बैंड,जगह-जगह सडक की बदहाली पर यात्रा व्यवस्था पर ही सवाल उठाए। यानि जितने भी यात्रियों से यात्रा की व्यवस्था का हाल जाना तो सडक को लेकर सबसे ज्यादा सवाल उठे।

बहरहाल स्वाभाविक है कि गंगोत्री व यमुनोत्री दोनो ही यात्रा मार्ग डेंजर जोन,स्लाइड जोन,कई हिस्से उबड़ खाबड़ होने के साथ ही बची खुची कमी आल वेदर ने पूरी कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : जिला पंचायत में अब उल्टी गिनती शुरू, 12 को नहीं 9 अगस्त को ही चाबी प्रशासक के हाथों में,बेसब्री से हो रहा इंतजार

संतोष साह / उत्तरकाशी जिला पंचायत बोर्ड के