पिथौरागढ़ : स्वराज अभियान के तहत मनाया गया आजीविका एवं कौशल विकास दिवस

पिथौरागढ़ : स्वराज अभियान के तहत मनाया गया आजीविका एवं कौशल विकास दिवस

- in Almora
67
0

सनसनी सुराग / पिथौरागढ़

ग्राम स्वराज अभियान के तहत शनिवार 5 मई को आजीविका एवं कौशल विकास दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर जनपद में विभिन्न स्थानों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर न्याय पंचायत बरम विकास खंड धारचूला के चामी मेतली में कलस्टर लेबल फेडरेशन का गठन एवं फेडरेशन का कार्यालय का उद्घाटन एवं ग्राम सभा मेतली में हीमोत्थान के सहयोग से मुर्गी पालन हेतु हेचिंग मशीन ( हेचरी ) का उद्घाटन मुख्य विकास अधिकारी वन्दना द्वारा किया गया।
सर्वप्रथम बरम  में मुख्य विकास अधिकारी द्वारा सामुदायिक भवन में कलस्टर लेबल सहकारिता के कार्यालय का उद्घाटन एवं हैंडलूम कार्यशाला का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि हैण्डलूम को जो निर्माण कार्य किया जा रहा है उसकी गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाय, तत्पश्चात् मुख्य विकास अधिकारी द्वार हीमोत्थान के सहयोग से क्षेत्र में गठित महिला समूहों के कलस्टर लेबल फेडरेशन का गठन तथा स्वंय सहायता समूह तथा सी0एल0एफ0 के पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के साथ ही फेडरेशन के पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर  जनपद में एन0आर0एल0एम0 के अंतर्गत महिला समूहों के पदाधिकारियों को प्रथम बार पहचान पत्र वितरित किये गये। इस अवसर हीमोत्थान के सहयोग से अपार संस्था द्वारा क्षेत्र में महिला स्वंय सहायता समूहों के माध्यम से महिलाओं के उत्थान एवं आर्थिक उन्नयन हेतु किए जा रहे कार्यों व गतिविधियों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी गयी। कार्यक्रम में कौशल विकास प्रभारी राजेश कुमार  द्वारा कौशल विकास कार्यक्रम अंतर्गत शासन द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रमों की विस्तारपूर्वक जानकारी देने के साथ ही कार्यक्रम में शिक्षित बेराजगारों का कौशल विकास प्रशिक्षण हेतु पंजीकरण भी कराया गया।
कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 विधासागर कापड़ी द्वारा उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि पशुपालन आजीविका का बेहतर साधन है, उन्होंने महिलाओं से कहा कि दुग्ध उत्पादन हेतु अच्छी नश्ल के पशुओं का पालन करने के साथ ही आय बढ़ाने हेतु बकरी पालन तथा कुुक्कुट पालन को अपनाऐं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं को भी पशुओं में कृतिम गर्भाधान का प्रशिक्षण निशुल्क दिया जा रहा है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कलस्टर लेवल फेडरेशन का उद्घाटन करते हुए एन0आर0एल0एम0 के अंतर्गत हीमोत्थान के सहयोग से क्षेत्र में विशेष रूप महिला उत्थान हेतु किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि महिला स्वंय सहायता समूहों को आर्थिक रूप से और अधिक मजबूत करने हेतु सहयोग प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में कुक्कुट पालन हेतु भी हिमोत्थान के सहयोग से हैचरी यूनिट की जो स्थापना आज की जा रही है निश्चित रूप से स्थानीय लोगों को इसका लाभ मिलेगा इस हेतु उन्होंने कहा कि महिलाओं को इसका प्रशिक्षण भी दिया जायेगा तथा जनपद के अन्य स्थानों में भी हैचरी यूनिट स्थापित किए जायेंगे। उन्होंने धारचूला विकासखंड अंतर्गत एन0आर0एल0एम0 के अंतर्गत उत्कृष्ठ कार्य करने की सराहना करते हुए कहा कि अन्य विकास खंडों में भी कार्य किया जाएगा।
इस अवसर पर खंड विकास अधिकारी धारचूला एन0के0जोशी द्वारा महिला समूहों को सरकार की विभिन्न येाजनाओं की जानकारी दी गयी। उन्हांेंने कहा कि जनपद में प्रथम बार एन0आर0एल0एम0 के अंतर्गत सी0एल0एफ0 का गठन विकासखंड धारचूला में किया गया है। शीघ्र ही न्याय पंचायत स्तर पर भी सी0एल0एफ0 का गठन किया जायेगा। उन्हांेने विकासखंड धारचूला अंतर्गत आजीविका हेतु मौन पालन, अखरोट उत्पादन व अन्य कलस्टर के बारे में जानकारी दी गयी।
कार्यक्रम में मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0 विधासागर कापड़ी, अपर परियोजना अधिकारी एन0के0पुनेठा, हीमोत्थान के राजेन्द्र बोरा, अपार संस्था के गिरीश जोशी, प्रकाश चंद्र भट्ट, गोविन्द पंत समेत महिला स्वंय सहायता समूह के सदस्य, स्थानीय महिलाएं आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन खंड विकास अधिकारी एन0के0जोशी द्वारा किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मेरठ — सांसद ने किया दौड़ प्रतियोगिता का उदघाटन

  दौराला/मेरठ मौ० रविश कल सुबह क़स्बा स्थित