पिथौरागढ़ : कुमांऊ आयुक्त जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ का निरीक्षण

पिथौरागढ़ : कुमांऊ आयुक्त जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ का निरीक्षण

- in Pithoragarh
53
0

 

सनसनी सुराग / पिथौरागढ़

आयुक्त कुमांऊ मण्डल नैनीताल श्री राजीव रौतेला द्वारा बुधवार 23 मई को जिला चिकित्सालय पिथौरागढ़ का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान आयुक्त महोदय द्वारा जिला चिकित्सालय में विभिन्न व्यवस्थाओं में 10 दिन के भीतर सुधार लाने के निर्देश प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को देते हुए  जिलाधिकारी को उक्त निर्देशों का अनुपालन उक्त अवधि में सुनिश्चित कराते हुए 10 दिन उपरान्त् जानकारी उन्हंे भेजने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान सर्वप्रथम आयुक्त महोदय द्वारा जिला चिकित्सालय में मरीजों हेतु स्थापित पंजीकरण कक्ष का निरीक्षण किया गया निरीक्षण के दौरान शुल्क विवरण एवं अन्य जानकारियों जो कागज में अंकित की गयी थी और उक्त कागज फटा हुआ पाया गया है उसे तत्काल हटाते हुए स्पष्ठ रूप में निर्धारित शुल्क राशि एवं अन्य जानकारियां अंकित करना सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त जिला चिकित्सालय में विभिन्न स्थानों में अनियंत्रित ठंग से स्थापित फैलक्सी, बोर्ड  एवं होर्डिंग पर नाराजगी व्यक्त करते हुए आयुक्त महोदय द्वारा जिलाधिकारी एवं प्रमुख चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि चिकित्सालय में एक स्थान का चयन कर उक्त स्थान पर विभिन्न जानकारियों,योजनाओं के प्रचार-प्रसार संबंधी बोर्ड फैलक्सी एवं होर्डिंग लगायी जाय ताकि चिकित्सालय में आने वाले व्यक्तियों को जानकारियां आसानी से प्राप्त हो और उन्हें किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। इसके अतिरिक्त उन्होंने चिकित्सालय में उपलब्ध दवाइओं, सुविधाओं आदि के बारे में आने वाले मरीजों, उनके तीमारदारों आदि को जानकारी उपलब्ध हो इस हेतु चिकित्सालय के बाहर उक्त जानकारी संबंधित बोर्ड स्थापित किया जाय।

निरीक्षण के दौरान आयुक्त कुमांऊ मण्डल श्री रौतेला ने कहा कि चिकित्सालय में जो भी मरीज अपने ईलाज के लिए आता है वह निश्चित रूप से स्वस्थ होकर जाय ऐसा विश्वास उसमें जगिृत करने हेतु मरीज को स्वस्थ होने हेतु बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा व ईलाज मुहैया कराये।  उन्होंने कहा कि सरकार की भी मंशा है कि चिकित्सालय में आने वाला प्रत्येक मरीज वहां से स्वस्थ होकर जाय इसके अनुरूप चिकित्सालय में कार्य करें। निरीक्षण के दौरान चिकित्सा विशेषज्ञयों के साथ प्रतिदिन आने वाले मरीजों आदि के संबंध में जानकारी लेने पर अवगत कराया कि प्रतिदिन लगभग400 ओपीडी चिकित्सालय में होती है। आयुक्त महोदय ने चिकित्सकों को निर्देश दिए कि वह मरीज को बाहर से दवाऐं न लिखें उन्हें चिकित्सालय से ही दवाई उपलब्ध करायी जाय। निरीक्षण के दौरान आयुक्त महोदय द्वारा हैल्प डैस्क में तैनात पैरामेडिकल स्टाप एवं परामर्शदाताओं से भी वार्ता कर उन्हें विभिन्न सुझाव देने के साथ ही कार्यों में सुधार के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान आयुक्त महोदय ने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक को चिकित्सालय में विशेष सफाई व्यवस्था बनाए रखने के साथ ही मरीजों को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैया करायें। आयुक्त महोदय द्वारा जिला चिकित्सालय में हंस फाउण्डेशन के सहयोग से बनाए गये आई0सी0यू0 का भी निरीक्षण किया गया। उन्होंने आई0सी0यू0 में भर्ती मरीजों से भी वार्ता कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली गयी इस दौरान उन्होंने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक को निर्देश दिए कि हंस फाउण्डेशन की ओर से अंतराष्ट्रीय स्तर की आई0सी0यू0की बेहतर सुविधा उपलब्ध करायी गयी है इसका लाभ निश्चित रूप से मरीजों को मिलें यह जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की है। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि वह एक टीम गठित कर आई0सी0यू0 में अन्य जो भी व्यवस्थाऐं आदि सुनिश्चित करायी जानी है वह तीन दिन के भीतर सुनिश्चित करा ली जाय।

निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी वन्दना, मुख्य चिकित्साधिकारी उषा गुंज्याल, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक जिला चिकित्सायल एच0एस0 खड़ायत, प्रभागीय वनाधिकारी विनय भार्गव, उपजिलाधिकारी सदर एस0के0पाण्डेय समेत जिला चिकित्सालय के चिकित्साधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

कैराना पुलिस की जबरदस्त कार्यवाही नकदी के साथ अवैध व लाइसेंसी हथियार बरामद।

डॉ0 रणवीर सिंह वर्मा सनसनी सुराग न्यूज जनपद