पौड़ी: एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना (आईएलएसपी) एवं जलागम के तहत जिला क्रियांवयन एवं समन्वयक समिति की बैठक

पौड़ी: एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना (आईएलएसपी) एवं जलागम के तहत जिला क्रियांवयन एवं समन्वयक समिति की बैठक

- in Uttarakhand
125
0
पौड़ी/सनसनी सुराग
एकीकृत आजीविका सहयोग परियोजना (आईएलएसपी) एवं जलागम के तहत जिला क्रियांवयन एवं समन्वयक समिति की बैठक में आजीविका से जुड़े कार्यक्रमों पर चर्चा की गई। परम्परागत खेती के साथ- साथ नकदी फसलों के उत्पादन को बढ़ावा देने जैसे कार्यक्रमों की तकनीकी जानकारी से काश्तकारों को रूबरू करने पर जोर दिया गया। वहीं प्रगतिशील काश्तकारों व ग्रामीण जन प्रतिनिधियों ने खेती को नुकसान पहुंचाने वाले बंदरों तथा जंगली जानवरों से निजात दिलाने की मांग उठाई।
विकास भवन सभागार में बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्य विकास अधिकारी दीप्ति ंिसंह ने आजीविका मिशन तथा जलागम द्वारा संचालित विभिन्न कार्यक्रमों में काश्तकारों तथा स्वयं सहायता समूहों को शामिल करने को कहा। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र में आजीविका बढ़ाने वाले लघु तथा कुटीर उद्योग जैसे कार्यक्रमों में अधिक से अधिक ग्रामीण क्षेत्र को लोगों को लाभांवित करने को कहा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में महिलायें व बेरोजगार युवक युवतियां अचार बनाने, हैंडलूम, रेशों आदि से फर्नीचर आदि तैयार करने की तकनीकों से आजीविका संमृद्ध की जा सकती है। ऐसे कार्यक्रमों के लिए बैंकों द्वारा वित्तीय सहायता भी दी जाती है। उन्होंने स्वयं सहायता समूहों को ऐसे कार्यक्रमों में जोड़ने को कहा। सीडीओ ने स्वयं सहायता समूहों द्वारा उत्पादित सामग्री के लिए जनपद स्तर पर उचित विपणन केंद्र स्थापित करने के निर्देश दिये। उन्होंने ईओ पालिकाओं को नगरों में स्थानीय उत्पादों के लिए विपणन केंद्र स्थापित करने हेतु वार्ता के निर्देश दिये। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में उत्पादित उत्पादों को बेचने के लिए सही बाजार उपलब्ध हो सके। बैठक का संचालन करते हुए आईएलएसपी के डीपीएम अभिषेक कुमार चतुर्वेदी ने आजीविका तथा जलागम के कार्याें तथा उद्देश्यों पर विस्तार से जानकारियां दी। उन्होंने प्रोजेक्टर के माध्यम से आजीविका मिशन तथा जलागम के तहत संचालित विभिन्न गतिविधियों की तकनीकी जानकारियों से रूबरू किया। कहा कि प्रदेश के 11 जनपदों के 44 विकास खंडों में आजीविका मिशन के तहत विभिन्न कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि आजीविका मिशन के परियोजना क्षेत्र के तहत पौड़ी जनपद में केवल एक ब्लाक कल्जीखाल को चयनित किया गया है। इसके तहत ब्लाक के 112 ग्राम पंचायतों के तीन हजार से अधिक परिवारों के 314 समूह तथा छह आजीविका संघों को गठित किया गया है। उन्होंने ब्लाक में गठित छह संधों द्वारा किये जा रहे कार्यों पर भी रोशनी डाली। इस मौके पर परियोजना निदेशक एसएस शर्मा, सहायक परियोजना निदेशक सुनील कुमार, लीड बैंक अधिकारी नंदकिशोर, मुख्य कृषि अधिकारी देवेंद्र ंिसंह राणा, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुनीता अरोरा समेत आजीविका संघों से सुनीता देवी, उर्मिला देवी, राधा देवी, रोशनी देवी, संगीता देवी, कृष्णा रावत आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बिना पंजीयन कराए चल रहे ई रिक्शा पर होगी कार्यवाही- विश्वजीत प्रताप सिंह

शासन द्वारा पंजीयन कराने के बाद ही सड़कों