उत्तरकाशी : त्रिस्तरीय के दो चरण होने के बाद भी भाजपा व कांग्रेस में खामोशी, दावेदारों में कौन खेवनहार इस पर चर्चा गर्म

उत्तरकाशी : त्रिस्तरीय के दो चरण होने के बाद भी भाजपा व कांग्रेस में खामोशी, दावेदारों में कौन खेवनहार इस पर चर्चा गर्म

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi
71
0
@admin
  • संतोष साह

उत्तरकाशी जिले में चार विकास खंडों में दो चरण का चुनाव सम्पन्न हो चुका है। इस त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में चर्चा जिला पंचायत सदस्य को लेकर गर्म है। इस गरमाइश मे भाजपा,कांग्रेस में खामोशी इस बात का संकेत दे रही है कि चुनाव में पार्टी कम दावेदारों की आजमाइश व पैठ कहीं अधिक मायने दे गई है। गौरतलब है कि जिले के भटवाड़ी,डुंडा,नौगाँव व चिन्यालीसौड़ ब्लॉक में चुनाव सम्पन्न हो चुका है और 18 जिला पंचायत की सीटों में मतदाताओं ने किसे खेवनहार बनाना है यह मतपेटी के अंदर तय कर लिया है।

इस बीच दो चरणों के हुए चुनाव में दो प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस की खामोशी साफ नजर आई है। टॉप लेबल से ग्राउंड लेबल तक दोनों दलों में न तो संगठन नजर आया और न ही कार्यकर्ताओं की घुसपैठ। दावेदारों के बीच समर्थकों की अपमी ढपली अपना राग ने भी काफी हद तक दोनों दलों में खामोशी लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। खासकर भाजपा में टिकट के दावेदार और फिर दावेदारी बिगड़ने से जो नजारा बदला उससे भी एकजुटता कहीं नजर नहीं आई तो वहीं दो से अधिक बच्चों का फॉर्मूला भी आग में घी का काम कर गया।

इस बीच अब तक हुए जिला पंचायत सदस्यों के सीटों के चुनाव में भाजपा या फिर कांग्रेस समर्थित दावेदार भी कही अलग से नहीं बल्कि सभी दावेदारों की फेहरिस्त में चुनावी आंकड़े फिट करते हुए बताये जा रहे हैं। गणित किसी पार्टी समर्थित का नहीं बल्कि मैदान में खड़े सभी दावेदारों की गणित का लग रहा है। वोट किस गांव,किस रिश्तेदार,किस मित्र से कितना मिलने की उम्मीद है इस पर गुणा-भाग हो रहा है पार्टी वोट बैंक जो हुआ करता है वह चुनाव से गायब नजर आने को ही सबसे बड़ी खामोशी बताया जा रहा है। बहरहाल एक चरण के शेष बचे चुनाव के बाद 21 को जब पिटारा खुलेगा तो असल तस्बीर सामने आ जायेगी।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : परसेंटेज ऑफ वोट आपदा पर पड़ रहा भारी

संतोष साह जिले के अंतिम चरण के पंचायत