उत्तरकाशी: निगम के निदेशक रहते निगम की स्थिति को बेहतर बनाने में जुटे लोकेंद्र

उत्तरकाशी: निगम के निदेशक रहते निगम की स्थिति को बेहतर बनाने में जुटे लोकेंद्र

- in article, states, Uttarakhand, Uttarkashi
65
0
@admin
  • संतोष साह

जिले में पर्यटन के साथ डेस्टिनेशन को लेकर जीएमवीएन के निदेशक लोकेंद्र बिष्ट निगम को बेहतर बनाने को लेकर सक्रिय हैं। गढ़वाल मंडल विकास निगम के पर्यटक आवास गृह में पत्रकारों से मुखातिब होते हुए उन्होंने जिले में निगम के आवास गृहों को लेकर चर्चा की। उन्होंने सर्वप्रथम चिन्यालीसौड़ का ज़िक्र किया। यहाँ टिहरी डूबने से पहले टीआरएच हुआ करता था। निगम को तब इसके डूबने का कंपनसेशन तो मिल गया मगर उसके बाद चिन्यालीसौड़ में आज तक निगम का आवास गृह नही बना। निगम के निदेशक श्री बिष्ट का मानना है कि चिन्यालीसौड़ अहम पड़ाव है। हवाई पट्टी होने की वजह से यहाँ पर्यटन के भविष्य में बढ़ने के आसार हैं। ऐसे में निगम का आवास गृह यहाँ पर्यटकों के लिये लाभकारी होगा।

उन्होंने कहा कि चिन्यालीसौड़ में निगम की सुविधा फिर मिले इसको लेकर उन्होंने बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव रखा है। उन्होंने मनेरी,भैरो घाटी के आवास गृहों का भी जिक्र किया। भैरो घाटी में निगम के बंगले की दुर्दशा पर जहाँ उन्होंने पर्यटन विभाग को दोषी ठहराया तो वहीं मनेरी में निगम के बंगले के अभी तक मुआवजा न मिलने की बात कही। उन्होंने यह भी बताया कि संभवतः जल विद्युत निगम जल्द ही निगम के पर्यटक गृह के लिये पर्यटन को जमीन उपलब्ध कराएगा। एक अन्य पर्यटक हाउस जो कि अभी अस्तित्व में नहीं आया उसका भी उन्होंने जिक्र किया। निगम के निदेशक ने बताया साल 2008 में मुख्यमंत्री ने चौरंगीखाल में निगम के पर्यटक हाउस बनाने के लिये घोषणा की थी। यहां निगम के आवास गृह की जरूरत इसलिये महसूस की गई कि चौरंगी पर्यटन स्थल होने के साथ ही केदारनाथ यात्रा का भी पड़ाव है। मगर यह फ़ाइल आज तक दबी रही। फारेस्ट से लेकर पर्यटन के साथ ही जनप्रतिनिधियों की अनदेखी के चलते यहां निगम का आवास गृह नही बन सका है। उन्होंने कहा कि यहां आवास गृह बनाने को लेकर उन्होंने निगम के बोर्ड में मामला उठाया है।
निगम के निदेशक ने कोविड-19 में निगम की सेवाओं का भी जिक्र किया। उन्होंने बताया कि कोरोना काल मे कोरोना पीड़ितों की सेवा में लगे निगम कर्मी अनिल रावत की कोरोना के चलते मौत हो गई थी। निगम की सेवा करते उसकी मौत के बाद उन्होंने मृतक को सम्पूर्ण मुआवजा दिये जाने के मसले को भी निगम के बोर्ड में प्रमुखता से उठाया। उन्होंने उम्मीद जाहिर की जल्द ही निगम इसमे निर्णय लेगा।

श्री बिष्ट ने कहा कि निगम के निदेशक मंडल में रहते उनका प्रयास होगा कि निगम की सुविधाएं बढ़े। जिसकी सुविधा न केवल पर्यटकों को मिलेगी बल्कि इससे सरकार के राजस्व में भी बढ़ोतरी होगी। इस अवसर पर निगम के रीजनल मैनेजर राजेश वैला, मंडल अध्यक्ष डुंडा देशराज बिष्ट ,गंगा विचार मंच के जय प्रकाश,गजेंद्र बिष्ट आदि मौजूद थे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी : सीएमआई व रेडक्रॉस सोसाइटी के सौजन्य से 200 मरीजों का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण,निःशुल्क दवा भी दी

संतोष साह जिला चिकित्सालय परिसर में सीएमआई देहरादून