मुज़फ्फरनगर: बाइक सवार मनचलो ने की छात्रों से छेड़खानी, विरोध करने पर छात्रा के भाई को भी पिटा।

मुज़फ्फरनगर: बाइक सवार मनचलो ने की छात्रों से छेड़खानी, विरोध करने पर छात्रा के भाई को भी पिटा।

- in Mujaffarnagar
16
0

नवीन गोयल/मुज़फ्फरनगर

दस दिन पूर्व मुज़फ्फरनगर की खतौली कोतवाली क्षेत्र स्थित कॉलिज से अपने गाँव चंदपुरी लोट रही छात्रों से गांव के ही बाईक सवार कुछ युवकों ने जबरदस्ती छेड़छाड़ कर दी थी, जिसका विरोध करने पर मनचलो ने छात्रों के भाई को पीटना शुरू कर दिया था, जब दोनों बहने (छात्राये) अपने भाई को बचाने के लिए आई तो आरोपियों द्वारा छात्रों को भी बुरी तरह से पीटा गया था। जिसमें एक बहन का हाथ और पैर टूट गया था ,जबकि दूसरी बहन को गंभीर चोटे आई थी ,ये ही नहीं इस मनचलो ने छात्रों के भाई के सिर में लोहे की रोड मारकर घायल कर दिया था। पीड़ित छात्रों के परिजनों की शिकायत पर खतौली पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया था ,लेकिन आज 10 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस ने अब तक इस मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नही की है ,जबकि आरोपी पक्ष लगातार पीड़ितों पर फैसले का दबाव बनाकर धमकिया दे रहा है ।जिस पर सोमवार को पीड़ित छात्रों ने अपने परिजनों और सेकड़ो ग्रामीणों के साथ एसएसपी ऑफिस पहुंचकर जमकर हंगामा काटा। हंगामा काट रहे लोगो को एसएसपी मुज़फ्फरनगर ने आरोपियो की जल्द ही गिरफ्तारी का आश्वाशन देकर गुसाये लोगो को शांत कराया। 

दरअसल बीती 27 सितम्बर को मुज़फ्फरनगर की खतौली कोतवाली क्षेत्र स्थित चंदपुरी गाँव निवासी दो सगी बहने अपने भाई के साथ खतौली स्थित अपने कॉलिज के.के जैन इंटर कॉलिज से टैम्पो द्वारा अपने गाँव वापिस लौट रही थी ,उसी दौरान गाँव के ही बाईक चार युवको दीपक , मुन्ना, सनोज, और प्रियांशु ने दोनों बहनो के साथ जबरदस्ती छेद छाड करनी शुरू कर दी छात्राओं के भाई द्वारा विरोध करने पर मनचले युवको ने छात्राओं और उनके भाई के साथ मारपीट करते हुए छात्रों के कपडे तक फाड़ दिए और आरोपी युवक पीड़ित छात्राओ को जान से मरने की धमकी देते हुए मौके से फरार हो गए। लहूलुहान हुई पीड़ित छात्राओं ने घर जाकर अपने परिजनों को पूरी घटना से अवगत कराया। जिसपर पीड़ित छात्राओं और उनके परिजनों ने खतौली कोतवाली पहुंचकर आरोपी युवको के खिलाफ नामदर्ज शिकायती पत्र देकर कार्यवाही की मांग की थी। पुलिस ने तुरंत चारो आरोपी युवको के खिलाफ धारा 354, 341, 394 आईपीसी की धारा में मुकदमा दर्ज कर अपनी कार्यवाही शुरू कर दी थी। लेकिन 10 दिन बीत जाने के बाद भी मामले में कोई कार्यवाही ना होने से दुखी पीड़ित छात्राओं ने अपने परिजनों और सेकड़ो ग्रामीणों के साथ सोमवार को एसएसपी कार्यालय पहुंचकर जमकर हंगामा किया। एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने गुस्साए लोगो को आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन देकर मामले को शांत कराया। रोती बिलखती पीड़ित छात्रा 

ने मिडिया से बात करते हुए बताया की मेरा नाम मीनू है। हम कॉलेज से घर जा रहे थे। उन्होंने हमारे साथ खींचा खाची की और ईख में लेकर जाने लगे। और मेरे तो कपडे भी फाड़ दिए थे उन्होंने। चंदपुरी गांव है हमारा। वो ग़ुज्जर के लड़के थे उनका नाम है। दीपक, मुन्ना, सनोज और प्रियांशु। उन्होंने कहा की तुमने अगर इस बारे में किसी को बताया तो हम तुम्हे जान से मार देंगे और मेरे पापा को भी बोलै। पुलिस भी इसमें कुछ नहीं कर रही है। उन्होंने मेरी बहन की टांग भी खीची वो टेम्पो से गन्ने के खेत में गिर भी गई थी। जब मेरे भाई ने इसका विरोध किया तो मेरे भाई को लोहे का पाइप मार दिया उन्होंने। और जब मेने भी उनको रोका तो उन्होंने मुझे भी थप्पड़ और सरियो से मारा। रस्ते में मारपीट की हमारे साथ। हमारी सुनवाई नहीं हो रही है। पुलिस बस कहती है हां कर देंगे। अभी तक गिरफ्तारी कोई नहीं हुई। आज हम मुज़फ्फरनगर आये है एसएसपी के पास। शाम तक उनकी गिरफ्तारी हो जानी चाहिए। इस मामले में पुलिस ने छेड़छाड़ और मारपीट सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा तो दर्ज कर लय था लेकिन पुलिस अधिकारी इसे छेड़छाड़ के विरोध में मारपीट ना बताकर केवल दो पक्षों में मारपीट का मामला बता रहे है। इस मामले में एसएसपी सिटी ओमवीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया की आज खतौली थाना क्षेत्र के चंदपुरी गांव के कुछ लोग आये थे। उनका ये कहना था की अभी 4-5 दिन पहले गांव में दो पक्षों में झगड़ा हो गया था। इसमें विवाद चला आ रहा था। पहले एक पक्ष ने जो पीड़ित पक्ष है उन्होंने जो आक्रामक पक्ष है इन्होने इसका विरोध भी किया था गांव में समझौता हो गया था। लेकिन इस बार जो दूसरा पक्ष है उसके द्वारा मारपीट की गई थी। मारपीट में दो लड़कियों को और एक उनके भाई को चोट आई है। इसमें उनका आरोप था की पुलिस कार्यवाही नहीं कर रही है। यद्यपि पुलिस उसमे लगातार दबिश दे रही है। उसके बाद एसएसपी साहब ने भी निर्देशित किया था हमने भी इन्स्पेटर को कहा है इसमें तत्काल गिरफ़्तारी सुनिश्चित करे और उचित धाराओं में जो भी दोषी है उन्हें जेल भेजे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मेरठ — अतुल की पदयात्रा को अखिलेश का ग्रीन सिग्नल

  मेरठ मौ० रविश सपा नेता अतुल प्रधान