मकर संक्रांति मनाई,लगाई आस्था की डुबकी

मकर संक्रांति मनाई,लगाई आस्था की डुबकी

- in Other Updates
26
0

विशाल भटनागर

मकर संक्रांति के पर्व को खिचडी का पर्व भी कहा जाता है. मकर संक्रांति सूर्य और शनि से लाभ लेने का भी खास दिन होता है. मकर संक्रांति के दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं. शास्त्रों में उत्तरायण के समय को देवताओं का दिन और दक्षिणायन को देवताओं की रात कहा गया है

कैराना। *मकर संक्रांति पर करें स्नान और दान*

मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान का कई गुना फल मिलता है. मंगलवार काे मकर संक्रांति का पर्व मनाया गया, पानीपत खटीमा राजमार्ग पर हरियाणा- उत्तर प्रदेश सीमा पर स्थित यमुना नदी में प्रात: से ही श्रद्वालुआें के स्नान का सिलसिला जारी रहा। जहा श्रद्वालुआें ने सर्वप्रथम सुर्य काे जल अर्पित कर यमुना नदी में डुबकी लगाई,आेर विशेष पूजा अर्चना की।
बता दे कि मंकर संक्रांति पर भगवान सूर्य की विशेष पूजा-आराधना से मनोकामनाएं पूरी होती हैं इसके अलावा मान्यता है कि सूर्य का किसी राशी विशेष पर भ्रमण करना संक्रांति कहलाता है. सूर्य हर माह में राशी का परिवर्तन करता है. वर्ष की बारह संक्रांतियों में से दो संक्रांतियां सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती हैं. मकर संक्रांति और कर्क संक्रांति. सूर्य जब मकर राशी में जाता है तब मकर संक्रांति होती है. मकर संक्रांति से अग्नि तत्त्व की शुरुआत होती है और कर्क संक्रांति से जल तत्त्व की।

*मंकर संक्रांति पर मिलता है लाभ*

मकर संक्राति एक ऐसा त्योहार है जिस दिन किए गए काम अनंत गुणा फल देते हैं. संक्राति के दिन सूर्य वरदान बनकर चमकते हैं. मान्यता है कि संक्राति के दिन शुभ मूहूर्त में नदियों का पानी अमृत में बदल जाता है. संक्राति के दिन किया गया दान लक्ष्मी की कृपा बनकर बरसता है. मकर संक्रांति को दान, पुण्य और देवताओं का दिन कहा जाता है. ज्योतिष के अनुसार मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान से तमाम जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं।

*खिचड़ी के अलावा तिल का भी महत्व*

मकर संक्रांति के दिन सिर्फ खिचड़ी ही नहीं तिल से जुड़े दान और प्रयोग भी लाभ देते हैं .दरअसल ये मौसम में परिवर्तन का समय होता है. ऐसे में तिल का प्रयोग विशेष हो जाता है. साथ ही मकर संक्रांति सूर्य और शनि से लाभ लेने का भी खास दिन होता है. मकर संक्रांति के दिन से सूर्य उत्तरायण हो जाते हैं. शास्त्रों में उत्तरायण के समय को देवताओं का दिन और दक्षिणायन को देवताओं की रात कहा गया है.

 

 

 

*मकर संक्रांति के दिन क्या है दान का महत्व?*

ज्योतिष विज्ञान ये मानता है कि मकर संक्रांति के दिन किया गया दान सौ गुना फल देता है. मकर संक्रान्ति के दिन घी-तिल-कंबल-खिचड़ी दान का खास महत्व है. मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन तिल गुड़ और खिचड़ी के दान से किस्मत बदलती है. खुशी और समृद्धि के प्रतीक मकर संक्रांति के दिन पुण्य काल में दान देना, स्नान करना या श्राद्ध कार्य करना शुभ माना जाता है. शास्त्रों में मकर संक्रांति पर गंगा स्नान की विशेष महिमा बताई गई है.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नेता जी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर पहुंचे कैराना सांसद प्रदीप चौधरी, माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर किया कार्यक्रम का शुभारंभ

नाजिम राणा ब्रस्पतिवार को जनपद शामली की तहसील