लेखक की अंतरात्मा की आवाज …..एक विशेष लेख।

लेखक की अंतरात्मा की आवाज …..एक विशेष लेख।

मोना

तड़फती आहें
========
वनो को देखो कैसे है कटे जाते ,परवाह ना कोई इनकी करता !
वातावरण है दूषित होता ,किसी को क्या है पता
खुद ही मोत को गले लगाता !
नजदीकी आ रही है मोत हमारी ,फिर भी ना बदले हम
अपनी समझदारी होती अगर हममें तोह रोक पाते हम !
बूंदे पड़ती है है जब इस पर तो ,अलग एक आयाम आता है
देती सभी को जीवन यह ,एक नया ही आभास होता है !
पिंघल रही है चट्टानें किसी को ना इतनी समझ
ख़तम तो रही ज़िंदगी एक डैम हर तरफ
आशयानो मे बैठकर तो सब है बाते करते
वनो के बारे मे ना कोई सोचता ,कैसा है दूषित वातावरण होता
अगर कटते रहे पेड यदि इस तरह ,तो हम भी एक दिन इसी तरह उजाड़ जायेंगे
रह गए है बस थोड़े ही दिन ,सब धरे के धरे रह जायेंगे
निकलेंगी जब आहें जब हर दिल से ,पुकार तेरी कोई सुन ना पायेगा
मिलेगा क्या कोई अपना ,गैर भी ना पहचान पायेगा
गूंजेगी किलकारी हर और मातम ही मातम होगा
बतला उस समय तेरा क्या आलम होगा
रौशनी ना बचेगी किसी और ,अँधेरा है छा जायेगा
बच्चा बूढ़ा और जवान तडफता रह जायेगा
अब भी समझ जा प्राणी चा ह ता है अगर तू कलयाण अपना तो कर अच्छे करम और
अपने को बचा
समय अब नजदीक कोई ना बच पायेगा
भाग्य तेरा आवाज लगा रहा बस सोचता क्या है …………
लेखक की अंतरात्मा की आवाज …..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उत्तरकाशी: मुख्यमंत्री रावत ने 1 अरब 39 करोड़ 61 लाख की लागत के 39 कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।

उत्तरकाशी/सनसनी सुराग प्रदेष के माननीय मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह